हिमाचल प्रदेश में पर्यटन स्थल

tourism in himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश 2020 मे यात्रा करने के लिए 80 सर्वश्रेठ स्थान

भारत मैं हिमाचल प्रदेश को सेब के राज्य के रूप मे जाना जाता है ! यह पुरे वर्ष सस्कृति, मेलो और पर्यटन के लिए भी जाना जाता है ! हिन्दू धर्म से ईसाई धर्म और सिख धर्म और इस राज्य मे सभी धर्मो को समान मान्यता दी गई है ! नीचे स्क्रॉल करें और सबसे अच्छा गंतव्य खोजें जो निश्चित रूप से इस वर्ष आपकी यात्रा सूची में होना चाहिए। और ये 80 घूमने के लिए सर्वश्रष्ठ स्थान है!

  1. शिमला
  2. कुल्लू मनाली
  3. कसौली
  4. मलाणा
  5. धर्मशाला
  6. बीर बिलिंग
  7. डलहौज़ी
  8. स्पीति ताबो काज़ा
  9. कसोल
  10. खज्जिआर
  11. मशोबरा
  12. पालमपुर
  13. किन्नौर
  14. कुफरी
  15. चायल
  16. मैक्लॉडगंज
  17. चितकुल
  18. सोलंग वैली
  19. शोघी
  20. तीर्थन वैली
  21. नारकंडा
  22. बरोट
  23. चम्बा
  24. मंडी
  25. नाहन
  26. काँगड़ा
  27. भुंतर
  28. बिलासपुर
  29. कल्पा
  30. तातापानी
  31. शोजा
  32. मणिकरण
  33. सोलन
  34. सांगला
  35. नालागढ़
  36. परवाणू
  37. नाग्गर
  38. अर्की
  39. सरचू
  40. रुमसू
  41. पौंटा साहिब
  42. केलोंग
  43. लोसार
  44. लाहौल वैली
  45. बियास कुंड ट्रेक
  46. रोहतांग पास
  47. पिन पार्वती वैली ट्रेक
  48. खीरगंगा ट्रेक
  49. पिन वैली नेशनल पार्क
  50. सराहन
  51. तोश
  52. ट्रेकिंग इन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क
  53. पराशर लेक ट्रेक
  54. इन्द्रहार पास ट्रेक
  55. फ्रेंड शिप पीक
  56. सर पास ट्रेक
  57. भृगु लेक
  58. त्रिउंड
  59. किन्नौर कैलाश
  60. जालोरी पास
  61. चंद्रताल बारालाचा ट्रेक
  62. बड़ा भंगाल ट्रेक
  63. पिन भाबा पास ट्रेक
  64. हैम्पटा पास ट्रेक
  65. देओ टिब्बा
  66. ठेऊग
  67. कंगोजोड़ि
  68. चांशल वैली
  69. फागू
  70. बड़ोग
  71. सिरमौर
  72. जीभी
  73. दादासिबा
  74. पांगी वैली
  75. सैंज वैली
  76. हनुमान टिब्बा
  77. चूडधार वैली
  78. नालदेरा
  79. कोटखाई
  80. खड़ापथर

1 शिमला पर्यटन – हिमाचल की राजधानी में पर्यटन

best places to visit in shimla
शिमला

शिमला उत्तरी भारत के प्रमुख पहाड़ी हिल स्टेशनो मे से एक है ! यह हिल स्टेशन 2276 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! शिमला भारतीय हनीमूनर्स के बीच एक सबसे प्रसिद्ध हिल – स्टेशन है ! ब्रिटिश शिमला शहर से इतना प्यार करते थे कि उन्होंने 1864 मे शिमला को अपनी गर्मिओ की राजधानी बनाया और जब भी मैदानी इलाको मे तापमान बढ़ता था , तो शिमला से ही वह उपमहाद्वीप पर राज चलाते थे !

शिमला पर्यटन प्रदेश मे बहुत जियादा प्रसिद्ध है! इसलिए शिमला की प्रकृति और आस पास के क्षेत्र दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी लुभावने प्रकृति और मौसम के कारण अपनी और आकर्षित करते है ! जियादातर महीनो मे मौसम अच्छा होता है , इसलिये गर्मिओ के महीनो मे पर्यटकों के बीड के साथ शिमला भरा रहता है !

लेकिन दिसम्बर के महीने से लेकर फेब्रुअरी के अंत तक कुछ दिनों तक बर्फ के साथ सर्दियों में बहुत ठंड रहती है ! आम तौर पर शिमला को कुफरी और आस पास के क्षत्रो के साथ पर्यटन के लिए कवर किया जाता है ! इसी तरह एक पहाड़ी स्टेशन जो लगभग हमेशा बर्फ से ढका रहता है! बाद में दुनिआ भर के पर्यटक प्रसिद्ध जाखू मंदिर भी दर्शन करने जाते है ! अंतत शिमला कई शहरों से नज़दीकी से जुड़ा हुआ है ! जैसे चंडीगढ़ शिमला शहर से सिर्फ 5 घंटे दूर है और पौंटा 5 घंटे दूर ! शहर मे एक हवाई अड्ढा भी है और शिमला मे रेलवे स्टेशन भी है! जो शिमला को कालका से जोड़ता है! और यूनेस्को ने शिमला को विश्व धरोवर के रूप मे सूचीबद्ध किया है !

  • शिमला में घूमने का सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर और बर्फबारी के लिए दिसंबर से फेब्रुअरी !
  • यहाँ कैसे पंहुचा जाये -: कालका निकटतम रेलवे स्टेशन है, जो चंडीगढ़ और दिल्ली रेलवे स्टेशन से जुड़ा हुआ है! चंडीगढ़ 113 किलोमीटर की दूरी पर है ,और दिल्ली से शिमला 342 किलोमीटर की दूरी पर है !
  • शिमला में रहने के स्थान -: रैडिसन जस्स शिमला , स्नो वैली रिसोर्ट शिमला , मीना बाग़ शिमला , होटल पाइन व्यू
  • शिमला मैं घूमने देख़ने योग्ये शीर्ष स्थान -: रिज , कुफरी , तातापानी , अनाडेल , जाखू मंदिर , हिमालयन बर्ड पार्क शिमला , चैडविक फाल्स , इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एडवांस स्टडी , गुरुद्वारा संजौली !
tourist places to visit in shimla
दा रिज
manali tour package
अनाडेल शिमला
top tourist places in himachal pradesh
चैडविक फाल्स
shimla tourist places
कुफरी
tourism in himachal pradesh
जाखू मंदिर शिमला
shimla tourism packages from delhi
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एडवांस स्टडी
tourism places in shimla
राफ्टिंग एडवेंचर इन तातापानी
best places to visit in himachal pradesh
हिमालयन बर्ड पार्क शिमला
places to visit in shimla
गुरुद्वारा संजौली शिमला

2 कुल्लू मनाली पर्यटन – देश का प्रसिद्ध पहाड़ी स्थल

places to visit in shimla manali

मनाली हिमाचल के कुल्लू जिले में भारत देश का सबसे प्रसिद्ध हिल स्टेशनो मे से एक है! परंतु यदि आप बर्फ से ढके पर्वतों के बीच ठंडी ,ताज़ी हवा और ऊँचे पहाड़ो की सेर करना चाहते है! तो कुल्लू मनाली ही आपके पर्यटन के लिए सही होगा और इसलिये ये आपके पर्यटन सूचि की लिस्ट में सबसे शिखर पर होना चाहिए ! इस शहर मे घूमने के लिए बहुत मज़ेदार स्थान है! जो आपकी छुटियो को मज़ेदार बनाते है ! सोलंग घाटी कुल्लू मनाली मे सबसे अधिक पसंद और देखी जाने वाले स्थानों मे से एक है !

मनाली पर्यटन के लिए देश विदेश के पर्यटकों द्वारा पसंद की जाने वाली जगहों मे से एक है! मनाली पीर पंजाल और धौलाधार की पहाड़ियों और बर्फ से ढकी ढलानों के बीच स्थित है इस वजह से भी यह भारत देश का मख्य पर्यटक स्थल है ! इसलिये यहाँ देश विदेश से पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है ! और यहाँ आकर हर पर्यटक का मन शांत अवस्था में चला जाता है ! क्योकि प्रकृति के अद्धभुत सौंदर्य के रूप को देख कर हर पर्यटक अपनी इच्छा को पूरा करते है और पर्यटन का आनंद लेते है !

  • कुल्लू मनाली मे घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर और नवंबर से फेब्रुअरी बर्फ बारी को देखने के लिए !
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये -: नज़दीकी रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ मे 311 किलोमीटर दूर है वाया रोड ! और दिल्ली से मनाली वाया रोड 565 किलोमीटर दूर है ! निकटतम हवाई अड़ा भून्तर है जो मनाली से 48 किलोमीटर और कुल्लू से 9 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है! वहा से आप बस /टैक्सी ले सकते है !
  • रहने के स्थान -: नोमेडिक नेस्ट मनाली , डेल्फरयान मनाली , मनाली होटल्स , ज़ॉस्टल होटल मनाली !
  • मनाली मे देखने योग्य शीर्ष स्थान-: सोलंग वैली , रोहतांग पास , बियास कुंड ट्रेक , हिडिमा मंदिर !
best tourism places in kullu manali
सोलंग वैली
best tourist places in kulllu manali
बयास कुंड ट्रेक
places to visit in shimla in december
रोहतांग पास
adventure tourism in himachal pradesh
हिडिमा मन्दिर

3 कसौली पर्यटन – प्रदेश का द्वार

best places to visit in kasoli
kasoli

कसौली हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में समुन्दर तल से 1800 मीटर की ऊंचाई पर चंडीगढ़ से शिमला के मार्ग मे एक छोटा पहाड़ी शहर है ! जो हिमालय के निचले किनारो पर विद्यमान देवदार के जगल के बीच स्थित है यह चंडीगढ़ से केवल 58 किलोमीटर दूर स्थित है ! यह प्रदेश का प्रवेश द्वार है ! कसौली में पर्यटन करने के लिए पर्यटकों के पास बहुत सारे विकल्प है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय -: अप्रैल से फेब्रुअरी !
  • कसौली मे कैसे पहुचा जाये -: कसौली चंडीगढ़ से 58 किलोमीटर दूर है और कालका से 35 किलोमीटर दूर है कसौली पहुचने का सबसे अच्छा तरीका चंडीगढ़ या कालका है ! कालका में नज़दीकी रैलवेस्टेशन है !
  • कसौली मे रहने के स्थान -: पाइन विल्ला , कसौली कैसल रिसोर्ट , कसौली इन् , रामदा बाय वेद्यम कसौली !
  • कसौली मे देखने योग्य स्थान -: टिम्बर ट्रेल , मंकी पॉइंट , मॉल रोड कसौली , चर्च , गुरुद्वारा , सन सेट पॉइंट !
tourism places in kasoli himachal
टिम्बर ट्रेल
types of tourism in himachal pradesh
मॉल रोड कसौली
top places to visit in himachal
गुरुद्वारा
himachal pradesh tourism office in delhi
मंकी पॉइंट
kinnaur in himachal pradesh tourism
चर्च
best travel places in kasoli
सनसेट पॉइंट

4 मलाणा -: सुदंर दृश्य के लिए प्रसिद्ध है

best places to visit in malana
मलाना गांव

मलाणा हिमाचल के कुल्लू जिले में समुन्दर तल से लगभग 8701मीटर की ऊंचाई पर एक सूंदर गांव है ! जो चनदेरखानी दरे के निचले बाग़ में स्थित है वहाँ लगभग 200 के आस पास पत्थर की छत वाले घरो का एक छोटा समूह है ! मलाणा प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों मे से एक है मलाणा गांव हिमालय के अंदर के भाग मे स्थित है और यह कुल्लू के तीन पर्वतीय दर्रो में से जुड़ा हुआ है मलाणा वह स्थान है जिसे आप हिमाचल प्रदेश में मार्च से अक्टूबर के बीच तक घूम सकते है !

कुल्लू घाटी के पास स्थित , मलाणा चंदरकनी के जगलो और पहाड़ो के आकर्षक दृश्य को दर्शाता है ! ये मुख्य रूप मे हिमाचल प्रदेश के सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों मे से एक है ! यदि आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताना चाहते है तो मलाणा आप के लिए बिलकुल सही स्थान है !

  • मलाणा मे घूमने के लिए सबसे अच्छा समय -: मार्च से अक्टूबर !
  • मलाणा कैसे पहुचा जाए -: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है! सड़क मार्ग से, मलाणा दिल्ली से 385 किलोमीटर दूर है और लगभग 9 घंटे लेता है! नज़दीकी रेलवे स्टेशन शिमला है वहा से टैक्सी या फिर कुल्लू के लिए बस ले सकते हो !
  • रहने के नज़दीकी स्थान -: शिवा कैफ़े , चाँद व्यू गेस्ट हाउस मलाणा , अयोयो मलाणा रिसोर्ट !
  • घूमने के लिए नज़दीकी मशहूर स्थान-: कसोल , मणिकरण , तोश !
best tourism places in malana
कसोल
top tourist places in malana
मणिकरण
best travel places in malana
तोश

5 धर्मशाला पर्यटन -: दलाई लामा का निवास स्थान

top places to visit in dharamshala himachal
धर्मशाला

धर्मशाला हिमाचल के काँगड़ा जिले में समुन्दर तल से 4780 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है !और निश्चित रूप से धर्मशाला प्रदेश के महत्वपूर्ण पर्यटक स्थलों मे से एक है ना केवल अपने मौसम के कारण प्रसिद्ध है बल्कि आपको यह भी देखने को मिलता है की भारतीय समुदाय कैसे इंडो तिबती समुदाय के लोगो के साथ कैसे मेल से रहता है!

धर्मशाला पर्यटन के लिए प्रसिद्ध है धर्मशाला काँगड़ा से लगभग 20 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है ! यहाँ देखने और घूमने के लिए बहुत से स्थान है! यह स्थान पर्यटकों के लिए पसंदीदा स्थानों मे से एक है ! यहाँ का क्रिकेट मैदान भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है ! इसलिए धर्मशाला की प्रसिद्धि का एक मुख्य कारण यह भी है की धर्मशाला दलाई लामा का निवास स्थान है ! धर्मशाला में हर साल बहुत से पर्यटक पर्यटन करने आते है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय -: मार्च से अक्टूबर और बर्फ़बारी देखने के लिए दिसंबर से फेब्रुअरी !
  • धर्मशाला में कैसे पहुचा जाये -: निकटतम रेलवे स्टेशन पठानकोट है दुरी 80 किलोमीटर है ! दिल्ली से धर्मशाला लगभग 480 किलोमीटर है वाया रोड
  • रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल स्नोव व्यू रेजीडेंसी , ग्रीन गेटवे कैम्प्स धर्मशाला , पिंक हाउस , होटल इम्पीरियल 9 , होटल किंग कैसल !
  • धर्मशाला मे देखने के लिए नज़दीकी लोकप्रिय स्थान -: क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला , गयेतो मोनेस्टरी , वॉर मेमोरियल , लाइब्रेरी ऑफ़ तिब्तैन वर्क्स एंड आर्चिव , चर्च धर्मशाला मैक्लॉडगंज !
शिमला के दर्शनीय स्थल
क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला
हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल
वॉर मेमोरियल
शिमला दर्शनीय स्थल
ग्यूटो मोनेस्टरी
मनाली पर्यटन
लाइब्रेरी ऑफ़ तिब्तैन वर्क्स एंड आर्चिव
top tourist places in dharamshala
चर्च धर्मशाला मक्लॉडगंज

6 बीर बिलिंग पर्यटन -: पर्यटन ढूढ़ने वालो का स्वर्ग है!

best places to visit in bir billing himachal
बीर बिलिंग

बीर उतर भारत मे समुन्दर तल से 1525 मीटर की ऊंचाई पर हिमाचल प्रदेश राज्य मे स्थित एक छोटा सा सुंदर शहर है ! बिलिंग जोगिन्दर नगर घाटी मे एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है , जो पैरा ग्लाइडिंग , और ट्रेकिंग जैसे रोमांचक खेलो और ध्यान के लिए प्रसिद्ध शहर के रूप मे जाना जाता है ! इस गाओ मे तिबती समुदाय के लोगो के बसने के कारण तिबती संस्कृति का प्रभाव है !

पैराग्लाइडिंग के लिए बीर दुनिआ मे सबसे अच्छी जगहों मे से एक है ! बीर बिलिंग में लोग छोटी पैदल यात्रा के साथ ट्रेकिंग भी कर सकते है ! बीर बिलिंग में प्रकृति के लुभावने नज़ारे को आप देख सकते है !नज़दीक के जोगिन्दर नगर पठानकोट ट्रैन मे सवारी कर सकते है और मठो और पास के स्थानों को भी देख सकते है या सिर्फ चाय के बागानों मे दिन व्यतीत कर सकते है ! बीर शहर आद्यात्मिक अध्ययन और ध्यान का एक मुख्य केंद्र भी है ! इसलिए हर साल देश विदेश से बहुत सारे पर्यटक घाटी में पर्यटन करने के लिए आते है! और यहाँ आकर अपने परिवार के साथ पर्यटन सम्बन्धी अपने मन की सारी इछाये पूरी करते है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जुलाई !
  • बीर बिलिंग कैसे पहुचा जाये-: बीर का नज़दीकी हवाई अड्डा धर्मशाला हवाई अड्डा गग्गल है ! जो धर्मशाला से लगभग 30 -40 मिनट मे है ! पठानकोट और बीर को जाने वाली बस / ट्रैन ले सकते है ! और फिर पठानकोट से बीर के लिए एक टेक्सी ले जो 4 -5 घंटे बीर पहुंच जाएगी ! और बस से दिल्ली से लगभग 10 से 12 घंटे लगते है ! बैजनाथ या बीर के लिए बस ले लो !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: दा होस्टेलर बीर , होटल सागरमाथा, सिद्धार्था ग्रीन्स रिसोर्ट बीर बिलिंग , गोस्टपस बीर !
  • बीर बिलिंग मे घूमने और मनोरंजन करने के लिए प्रमुख स्थान -: पैराग्लाइडिंग इन बीर बिलिंग , बीर टी गार्डन , बीर रोड , बीर तिबतन कॉलोनी , हैंग ग्लाइडिंग इन बीर , पल पंग शेर बलिंग मोनेस्टरी !
tourism places in birbilling himachal pradesh
पैराग्लिडिंग इन बीर बिलिं
best travel places in bir billing
बीर रोड
best places in himachal pradesh
हैंग ग्लाइडिंग इन बीर
best tourist places in bir billing
बीर टी बागान
80 places to visit in himachal pradesh
बीर तिबतन कॉलोनी
top travel places in himachal pradesh
पल पंग शेरबलिंग मोनास्ट्री

7 डलहोजी पर्यटन -: भारत का मिनी स्विट्ज़रलैंड है

best places to visit in dalhousie
डलहौजी

डलहौजी हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में समुन्दर से लगभग 2000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक सुदंर हिल स्टेशन है जो हिमाचल के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों मे से एक है ! इसलिए यहाँ पर हर साल देश विदेश से भारी सख्या में पर्यटक पर्यटन करने आते है ! डलहौज़ी के हरे घास के मैदान और तेज बहने वाली नदिया और धुंध से लिपटे हुए पहाड़ यहाँ की सुंदरता को चार चाँद लगा देते है !

डलहौजी का छोटा सा टिनसेल शहर हिमाचल की गोद डलहौज़ी मे बसा स्वर्ग है ! वास्तव में यह प्राचीन दुनिआ के प्रमुख आकर्षण का प्रतिक है देश के दूसरे शहरों से दूर स्थित यह सुन्दर शहर आपको प्रकृति की गोद मे और शहर की बीड़ से दूर प्रदुषण मुक्त वातावरण मे पहुँचाता है ! डलहौजी मे बहुत लुभावनी नदिया और पहाड़िया है ! जो पर्यटकों के आक्रर्षण का मुख्य केंद्र है और उनमे से सबसे प्रसिद्ध पंच पुल , सतधारा झरना , और देकुंड शिखर है ! डलहौजी मे ट्रेकिंग के लिए भी बहुत अच्छे स्थल है ! डलहौज़ी को भारत का मिनी स्विट्ज़रलैंड भी कहा जाता है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अगस्त महीना
  • डलहौजी मे कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा धर्मशाला है जो लगभग 4 घंटे की दूरी पर है ! नज़दीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है ! (डलहौजी से 65 किलोमीटर) है! और फिर एक टेक्सी ले सकते है जिसमे लगभग 8 घंटे लगते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: कम्फर्ट होम ,ज़ॉस्टल डलहौज़ी , ग्रैंड व्यू होटल , होटल हिमधारा डलहौज़ी , स्नो वैली रिसोर्ट !
  • डलहौजी मे घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान -: खज्जिआर , पंच पुला , सत धारा फाल्स , काला टॉप खज्जिआर सेक्टुअरी, देन कुंड पीक !
best tourism places in dalhousie
खज्जिआर
top travel places in dalhousie
सत धारा फाल्स
best travel places in dalhousie
पंच पुला
best tourist places in dalhousie
कला टॉप खज्जिआर सैंक्चुअरी
best tourism places in dalhousie himachal pradesh
दैन कुंड पीक

8 स्पीति-ताबो -काज़ा पर्यटन – पर्यटन के लिए सर्वोत्तम जगह

best places to visit in spiti
स्पीति

स्पीति हिमालय में ऊँची एक ठंडी रेगिस्तानी पहाड़ी घाटी है ! ये घाटी पहाड़ो की अधभुत झलकियां प्रस्तुत करने वाली है ! यहाँ की लम्बी घुमाओ दार सड़के और पहाड़िया आपका अभिनन्दन करती है! जब आप स्पीति घाटी मे प्रवेश करते है ! स्पीति घाटी समुंदर तल से लगभग 12 ,500 फिट की ऊंचाई पर स्थित है और पुरे साल मे सिर्फ यहाँ 240 दिन दूप मिलती है ! वास्तव में यह देश की सबसे ठंडे स्थानों मे से एक है ! स्पीति घाटी मे हर साल बहुत से पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है और यहाँ के प्रकृति का आनंद उठाते है !

स्पीति शब्द का शाब्दिक अर्थ है द मिडिल लैंड ये इसलिए है क्योंकि स्पीति घाटी भारत को तिब्बत से अलग करती है स्पीति घाटी जिसमे कई ट्रैकिंग ट्रेल्स भी शामिल है जिन्हे पर्यटक ट्रेकिंग के लिए चुन सकते है ! ये सभी ट्रेक काज़ा (स्पीति की राजधानी जहां पर से आप पर्यटन का बेस कैंप बनाते है ) से शुरू होते है और विभिन उची चोटियों तक पॅहुचते है ! जहा से आप हिमालय के अनेक पहाड़ो का लुभावना दृश्य देख सकते है ! स्पीति घाटी मे देखने और मनोरंजन करने के लिए विभिन स्थान है जैसे की मुख्य है चंदरताल लेक और सूरज ताल लेक और भी बहुत सारे स्थान है इन सब कारणों से स्पीति घाटी पर्यटकों को पर्यटन के लिए आकर्षित करती है !

  • स्पीति मे घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मई -अक्टूबर !
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये-: कुल्लू मे कुल्लू हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है ! शिमला काज़ा से निकटतम रेलवे स्टेशन है ! दिल्ली से शिमला के लिए बस ले सकते है और फिर टेक्सी ले सकते है !
  • रहने के नज़दीकी स्थान-: वंदेरेर नेस्ट , होटल स्पीति सरई , मौचतके काज़ा स्पीति , ज़ॉस्टल !
  • स्पीति मे और आस पास घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: चंद्रताल लेक स्पीति , कुंजुम पास , की मोनेस्टरी स्पीति , धनकर मोनेस्टरी , सूरज ताल लेक स्पीति , पिन वैली !
best tourism places in spiti
चंद्रताल लेक स्पीति
top places to visit in spiti
धनकर मोनेस्टरी
best travel places in spiti
कुंजुम पास
tourist places in spiti
सूरज ताल लेक स्पीति
top travel places in spiti
की मोनेस्टरी स्पीति
best tourist places in spiti
पिन वैली

9 कसोल पर्यटन – ट्रैकिंग के लिए बढ़िया स्थान है !

best tourist places in kasol
कसौल पर्यटन

कसोल हिमाचल प्रदेश मे समुन्दर तल से 5180 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! इसलिए इस को छोटे इज़्राइएल के नाम से भी जाना जाता है कसोल पार्वती घाटी मे एक खूबसूरत छोटा सा हिल स्टेशन है ! परन्तु यह पवित्र शहर मनिकरण के मार्ग में है और हिमाचल प्रदेश के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों मे से एक है यहाँ बाहर के देशो से भी लोग भारी सख्या मे पर्यटन करने के लिए आते है ! यहाँ पर देश विदेश से पर्यटकों के आने के कारण ही यह पर्यटन का मुख्य केंद्र बन पाया है !

यह स्थान ट्रेकिंग करने वालो और प्रकृति के प्रेमिओ के बीच एक बहुत पसंदीदा पर्यटन केंद्र के रूप मे तेज़ी से प्रसिद्ध हो रहा है ! अंतत यह पर्यटन के लिए भारत देश के सबसे अच्छे स्थलों मे से एक है , कसोल बर्फ से ढके पहाड़ियों , देवदार के पेड़ो और घड़ियाल नदी के पास बसने के कारण अति प्रसिद्ध है कसोल अपने ट्रेकिंग स्थानों के लिए भी प्रसिद्ध है जिसमे मुख्य ट्रेको में खीरगंगा , यकर पास , सर पास और पिन पार्वती आदि शामिल है ! यहाँ पर इज़्राइएल के लोगो की एक बड़ी सख्या निवास करती है कसोल मे कुछ स्टाल की तरह है जो स्वादिष्ठ भोजन परोसते है ! और गहरे हरे जगलो और खौफनाक पहाड़ो के मध्य बैठ कर भोजन करने का जो आनंद प्राप्त होता है उसकी अनुभव करना बहुत मुश्किल है

कसोल मे एक प्रसिद्ध बाजार है जिसे पिस्सू बाजार कहा जाता है जहा पर कई प्रकार की सामान को बेचा जाता है , और इसलिए जब भी आप कसोल पर्यटन करने जाए तो आप वहा से परिवार और दोस्तों के लिए बहुत सारी चीज़ो को खरीद सकते है! जैसे की ट्रेकिट समृति चिन , पैंडेंट और अर्ध कीमती पथर आदि !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मई और अगस्त !
  • कसोल मे कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा कुल्लू (भुंतर )है ! और निकटतम रेलवे स्टेशन शिमला है ! दिल्ली से शिमला के लिए बस ले सकते है और फिर कुल्लू के लिए बस ले और फिर टैक्सी ले सकते है !
  • रहने के नज़दीकी स्थान-: एप्पल गार्डन कैम्प्स , होटल संध्या कसोल , होटल कसोल इन् , ठाकुर कॉटेज होमस्टे , दा रेनबो इन् !
  • कसोल के आस पास मे घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: पिन पार्वती पास , खीरगंगा , ट्रेकिंग इन कसोल , तोश मलाणा !
best places to visit in kasol
पिन पार्वती पास
best tourist places in kasol
तोश
best travel places in kasol
खीरगंगा
tourist places in himachal pradesh
मलाणा
tourism places in kasol
ट्रेकिंग इन कसोल

10 खज्जीआर पर्यटन – एक परफेक्ट फ़ैमिली पर्यटन स्थल

best places to visit in khajjiar
खाज्जिअर

खज्जिआर हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में डलहौज़ी से 24 किलोमीटर दूर और समुन्दर तल से 6500 फ़ीट की ऊंचाई पर एक सुन्दर हिल स्टेशन है ! जिसे भारत के मिनी स्विट्ज़रलैंड के नाम से भी जाना जाता है यह चम्बा जिले मे स्थित है खजिहार डलहौज़ी के पास एक छोटा सा शहर है जो पर्यटकों को जंगलो , झीलों और चरागाहों का अति सुन्दर द्रश्य प्रदान करता है ! इस स्थान की अनोखी सुंदरता ने राजपूतो और मुग़लो समेत कई राज्यों को प्रभावित किया है ! लगभग 1920 मीटर फीट की ऊंचाई पर स्थित इस जगह की प्राकृतिक सुंदरता पर्यटकों पर हमेशा की छाप छोड़ देती है ! यह पर्यटन मुख्य रूप से अपने नो छेद वाले गोल्फ कोर्स के लिए भी पहचाना जाता है , जो हरी भरी हरियाली और सुन्दर द्रश्य के बीच मे स्थित है !

खज्जिआर मे एक छोटी सी प्रसिद्ध झील भी है जो इस शहर के सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थलों मे से एक है यह स्थल हरी घास के मैदानों और घने जगलो से घिरा हुआ है और यह सुन्दर मंदिरो के लिए भी काफी जियादा प्रसिद्ध है ! खज्जिआर पर्यटकों को अपनी विभिन प्रकार की गतिविधियों के लिए भी आकर्षित करता है ! जैसे की पैराग्लाइडिंग , घुडसवारी , जोरिंग , ट्रेकिंग आदि खेलो मे बहुत सारे विकल्प है ! कई बार भारी बर्फ बारी के कारण सर्दियों में खज्जिआर का रास्ता कभी कभी बंद भी हो सकता है ! लेकिन गर्मिओ के लिए खज्जिआर पर्यटन बहुत ही अच्छा है ! इस वजह से खज्जिआर मे पर्यटन जियादातर गर्मिओ के महीनो मे होता है !

  • खज्जिआर मे घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर !
  • खज्जिआर कैसे पहुचा जाये-: निकटतम हवाई अड्डा धर्मशाला है और फिर एक टेक्सी ले सकते है दुरी 120 किलोमीटर है नई दिल्ली से पठानकोट के लिए रात भर की ट्रैन है और 110 किलोमीटर के लिए टेक्सी ले सकते है नई दिल्ली से शिमला के लिए बस ले सकते है और फिर वहा से चम्बा के लिए !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल ग्रैंड एक्सोटिका , स्विस मीडोज खज्जिआर , होटल रॉयल रेजीडेन्सी , शाइनिंग स्टार रिसोर्ट !
  • खज्जिआर के आस पास मे घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: खज्जिआर लेक , काला टॉप वाइल्ड लाइफ सेक्टुअरी , लार्ड शिवा स्टेचू !
tourism places in khajjiar
खज्जिआर लेक
best tourism places in khajjiar
काला टॉप वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी
travel places in khajjiar
एडवेंचर एक्टिविटी इन खज्जिआर
best tourist places in khajjiar
लार्ड शिवा स्टेचू

11 मशोबरा पर्यटन – एक अच्छी तरह से गुप्त स्थान

best places to visit in mashobra
मशोबरा

यह हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से केवल 10 किलोमीटर दूर और समुन्दर तल से लगभग 7041 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है मशोबरा हिमाचल के मख्य पर्यटन स्थानों मे से एक है मशोबरा हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले मे एक हरियाली भरे मैदान मे फैला हुआ है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर !
  • मशोबरा मे कैसे पहुचा जाये-: शिमला से मशोबरा जाने वाली बस मे चढ़े या फिर शिमला से टेक्सी ले लो निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा शिमला मे है
  • रहने के नज़दीकी स्थान-: क्लब महिंद्रा मशोबरा , दा रिट्रीट मशोबरा , मशोबरा ग्रीन्स , महासू हाउस !
  • मशोबरा मे और आस पास घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: रिज़र्व फारेस्ट सैंक्चुअरी मशोबरा , रिट्रीट बिल्डिंग मशोबरा !
tourism places in mashobra
रिज़र्व फारेस्ट सैंक्चुअरी मशोबरा
tourist places mashobra
रिट्रीट बिल्डिंग मशोबरा

12 पालमपुर पर्यटन – टी गार्डन के लिए मशहूर

best places to visit palampur
पालमपुर

यह हिमाचल प्रदेश का एक और पसंदीदा पर्यटन स्थल है जो समुन्दर तल से 1472 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और जो अपने चाय बागानों और चिड़ियाघर के लिए प्रमुख रूप से प्रसिद्ध है ! यह हिमाचल के प्रसिद्ध हिल स्टेशन धर्मशाला से सिर्फ 30 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है!

परिवार के साथ घूमने के लिए यह एक बहुत अच्छा स्टेशन है जो धौलाधार की रेंजो के बीच स्थित है! यह अपने चाय बागानों और चाय की उतकृष्ट खेती के लिए जाना जाता है ! यहाँ पर पर्यटक कभी भी साल के 12 महीनो में पर्यटन करने आ सकते है! यहाँ प्राचीन अवशेषों को सूंदर अंग्रेज़ी शैली की इमारतों और सुंदर समामेलन मे देखा जा सकता है !

  • घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-: किसी भी समय 12 महीनो मे !
  • पालमपुर कैसे पहुचा जाये-: पालमपुर के लिए बस से अच्छा दौरा किया जा सकता है ! निकटतम हवाई अड्डा गगल हवाई अड्डा धर्मशाला (35 ) किलोमीटर और निकटतम रेलवे स्टेशन पठानकोट रेलवे स्टेशन 112 किलोमीटर है !
  • पालमपुर रहने के नज़दीकी स्थान-: गो स्टॉप्स पालमपुर , रख रिसोर्ट , आर एस सरोवर पोर्टिको पालमपुर !
  • पालमपुर मे और आस पास घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: बैजनाथ मंदिर , ताशी जोंग मोनेस्टरी , टी गार्डन पालमपुर , पॉटरी अंद्रेटा , सौरव वन विहार , न्यूगल खड़ !
tourism places palampur
बैजनाथ मंदिर
tourist places palampur
टी गार्डन पालमपुर
best tourism places in himachal
सौरव वन विहार
best travel places palampur
ताशी जोंग मोनेस्टरी
top travel places palampur
पॉटरी अंद्रेटा
top tourist places palampur
न्युगल खड़

13 किन्नौर पर्यटन – सेब और मंदिरो के लिए प्रसिद्ध

best tourist places in kinnaur
किन्नौर पर्यटन

यह पुरे भारत में हिमाचल प्रदेश का सबसे कम आबादी वाला एक जिला है जो समुन्दर तल से 7612 फ़ीट से शुरू होकर 22362 फ़ीट की ऊंचाई तक जाता है ! और यह सेब के बगीचों के लिए प्रसिद्ध है ! किन्नौर भारत की तिब्बत सीमा पर विद्यमान है ! किन्नौर हिमाचल प्रदेश का गर्मिओ का सबसे उत्तम पर्यटन स्थल है ! शिमला से 235 किलोमीटर की दुरी पर स्थित, किन्नौर , जास्कर घाटी और बर्फ से ढकी धौलाधार की पहाड़ियों के लुभावने दृश्य पेश करता है ! यहाँ पर भी हर साल भारी सख्या मे पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है

इसको ‘भगवान की भूमि’ के रूप मे भी पहचाना जाता है , इसलिय भी यह पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है ! इस जिले का महत्व पूर्ण आकर्षण किन्नौर कैलाश और धार्मिक ‘शिव लिंगम’ है भगवान शिव का मंत्र मुग्ध रोज दिन के दौरान अपने कई रंग बदलता है ! और नज़दीक मे पुराने बौद्ध मठ और मंदिर है ! जो विशेष महत्व रखते है ! धर्म के अतिरिक्त किन्नौर वैली मे ट्रेकिंग और स्कीईंगआदि खेलों का भी बहूत बड़ा क्षेत्र है ! देश विदेश से पर्यटक भारी मात्रा मे आते है और यहाँ ट्रेकिंग और स्कीइंग आदि खेलो में भाग लेते है ! किन्नौर अपने मीठे सेब, चिलगोजा हथकरघा और हस्तशिल्प के सामान के लिए भी अच्छी तरह से जाना जाता है ! कुल मिलाकर किन्नौर हिमाचल प्रदेश में पर्यटन करने के लिए अति उत्तम स्थानों में से एक है!

  • किन्नौमे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से अक्टूबर तक
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये-: सड़क मार्ग से किन्नौर का अच्छा दौरा किया जा सकता है दुरी वाया रोड 257 किलोमीटर है और निकटतम एयरपोर्टऔर रेलवे स्टेशन शिमला है!
  • किन्नौर में रहने के नज़दीकी स्थान-: कनुम होमस्टे , होटल बटसेरी सांगला किन्नौर , होटल रेओ पुरगिल , ज़ॉस्टल !
  • किन्नौर मे और आस पास घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: सराहन , रिब्बा , कल्पा , रिकॉग पिओ , नाको , ट्रेकिंग इन किन्नौर !
top travel places in kinnaur
सराहन
best places to visit in kinnaur
रिकोंग पिओ
best tourism places kinnaur
रिब्बा
tourism places in kinnaur
नाको
top places to visit kinnaur
कल्पा
kinnaur tourism
ट्रेकिंग इन किन्नौर

14 कुफरी पर्यटन – बर्फीली वादियों के लिए प्रसिद्ध

top places to visit kufri
कुफरी पर्यटन

कुफरी हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले का एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है जो समुन्दर तल से 2720 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह बर्फीली वादियों के लिए प्रसिद्ध है ! हर प्रकृति प्रेमी का कुफरी पर्यटन पसंदीदा स्थलों में से एक है जो शिमला से लगभग15 किलोमीटर दूर है

बर्फ ऐसी चीज़ है जो पर्यटकों को उत्साहित करती है ! यहाँ पर देखने के लिए बहुत अधिक नही है लेकिन फिर भी यहाँ ट्रेकिंग और स्कीइंग करने के लिए बहुत सारे पर्यटक आते है ! इसलिए इस को जियादातर शिमला आने वाले पर्यटकों के लिए एक उम्दा स्पॉट के रूप मे माना जाता है ! यहाँ पर सबसे जियादा पर्यटक सर्दियों के समय मे आते है क्योकि सर्दियों के मौसम मे कुफरी की पहाड़िया बर्फ की चादर से ढकी रहती है !

  • पर्यटन करने के लिए सबसे अच्छा समय-: दिसंबर से मार्च तक !
  • यहाँ पर कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन शिमला है ! इस स्थल की यात्रा बस से की जा सकती है दुरी लगभग 15 किलोमीटर है !
  • कुफरी में रहने के नज़दीकी स्थान-: एक्सोटिक कुफरी , कुफरी हॉलिडे रिसोर्ट , स्टर्लिंग कुफरी रिसॉर्ट्स एंड होटल्स , वूडेस रिसोर्ट !
  • आस पास घूमने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: कुफरी फन वर्ल्ड , स्कीइंग इन कुफरी , हॉर्स राइड इन कुफरी !
tourism places kufri
कुफरी फन वर्ल्ड
tourist places kufri
स्कीइंग इन कुफरी

best travel places kufri
हॉर्स राइड इन कुफरी

15 चायल पर्यटन – अछूता रत्न

tourist place chail
चायल

यह हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के पास एक सुन्दर हिल स्टेशन है जो समुन्दर तल से 2250 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! चायल देवदार के जगलो के बीच दुनिआ के सबसे ऊंचाई पर स्थित क्रिकेट मैदान के लिए मशहूर है ! चायल शिमला के नज़दीक के हिल स्टेशनो की मुकाबले मे अधिक ऊंचाई पर स्थित है ! इसलिए भी यह मुख्य रूप से पर्यटन के आक्रषण का केंद्र बना हुआ है !

और यह विश्व के सबसे ऊंचे क्रिकेट और पोलो मैदान के लिए प्रसिद्ध है ! चायल मे तीन पहाड़ी पर स्थित एक रिसोर्ट है ! इसका लुभावना दृश्य लोगो को अपनी और आकर्षित करता है ! चायल में चारो और हरी-भरी हरियाली के नज़ारे और ऊंचाई से आकर्षित करने वाले नज़ारे पर्यटकों को अपनी और आने का निमंतरण देते है ! इस लिए तो चायल मे बड़ी सख्या मे पर्यटक हर साल आते है ! क्योकि यह हिमाचल मे हलचल और भीड़ भरे स्थानों से दूर एक बहुत शांत और छुटिया बिताने के लिए बहुत ही शानदार पर्यटन स्थलों में से एक है!

चायल देवदार के जगलो, धुंध से ढकी पहाड़िओ के कारण और प्रकृति के प्रेमिओ और प्रकृति की फोटोग्राफी के शौकीनों को अपनी और आकर्षित करता है ! यहाँ पर ना केवल देश के पर्यटक पर्यटन के लिए आते है बल्कि विदेशो से भी भारी मात्रा में पर्यटन के लिए आते है ! इसलिय चायल को पर्यटन के लिए पर्यटकों द्वारा इतना पसंद किया जाता है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: 12 महीनो में कभी भी आ सकते है लेकिन कभी कभी जेनुअरी फेब्रुअरी में जियादा बर्फ के कारण रोड बंद हो सकते है !
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन शिमला है दुरी 46 किलोमीटर है चायल का दौरा बस/सड़क के माध्यम से सबसे अच्छा किया जाता है!
  • चायल मे रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल एकांत , मेपल रिसोर्ट बाय अमोद चायल , एकांत रिट्रीट रिसोर्ट चायल , होटल जंगल लिव इन् रिसोर्ट at हिल टॉप !
  • चायल मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: क्रिकेट स्टेडियम , काली मंदिर , ट्रेकिंग इन चायल , हॉर्स राइडिंग इन चायल , वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी , शॉपिंग इन चायल !
best places to visit chail
क्रिकेट स्टेड़ियम
tour and travel places in himachal pradesh
हॉर्स राइडिंग इन चायल
top places to visit chail
काली मंदिर
best tourist places in chail
चायल वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी
best travel places in chail
ट्रेकिंग इन चायल
summer vacation in himachal pradesh
शॉपिंग इन चायल

16 मैक्लॉयड गंज पर्यटन – प्रदेश मे सबसे सस्ता स्थान

travel places in mcloadganj
मैक्लॉडगंज

मैक्लॉडगंज हिमाचल प्रदेश के काँगड़ा जिले में धर्मशाला से 5 किलोमीटर की दुरी पर समुन्दर तल से 6831 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित एक शानदार हिल स्टेशन है जो हिमाचल के प्रसिद्ध हिल स्टेशनो में से एक है मैक्लॉडगंज के प्रसिद्धि का एक कारण यह भी है की यह काफी सस्था स्थान है और मैक्लॉडगंज ट्रेकिंग के लिए भी काफी लोकप्रिय है ! यहाँ पर तिबती आद्यात्मिक नेता दलाईलामा का घर होने की वजह से और पाहडो की हरी भरी हरयाली के बीच स्थित ये छोटा सा सुन्दर हिल स्टेशन बहुत प्रसिद्ध हुआ है !

भारत के प्रसिद्ध मठो के इलावा कुछ मुख्य मठ यहाँ भी है इसकी वजह से भी यह पर्यटन करने का मुख्य केंद्र बना हुआ है मैक्लॉडगंज मे प्रकृति का अनोखा सुन्दर नज़ारा है इसके साथ इस शहर में तिबती संस्कृति का बहुत बड़ा प्रभाव देखने को मिलता है और यहाँ तिबती लोग भी निवास करते है इस कारण इसे छोटा ल्हासा भी कहा जाता है ! और देश विदेश से पर्यटक यहाँ पे हर साल पर्यटन के लिए आते है और यहाँ देखने योग्य प्राकृतिक ढल झील भी है और पर्यटक तरूण्ड भी पिकनिक करने जा सकते है जो बहुत शांत स्थान है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: नवंबर से जून
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है जो मैक्लॉडगंज से 91 किलोमीटर की दुरी पर है और हर कोई पर्यटक बस या फिर टेक्सी से यात्रा का आनंद ले सकता है !
  • मैक्लॉडगंज रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल ग्रीन वुड्स , वाइट वाटर इन् मैक्लॉडगंज , बैकपैकर्स इन् , होटल किंग कैसल !
  • मैक्लॉडगंज मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: शॉपिंग इन मैक्लॉडगंज , ट्रेकिंग इन मैक्लॉडगंज , नामग्याल मोनेस्टरी , भागसू फाल्स , त्रिउंड ट्रेक , भागसू नाग !
best travel places in mcloadganj
शॉपिंग इन मैक्लॉडगंज
tourist places mcloadganj
भागसू फाल्स
best places to visit in mcloadganj
ट्रेकिंग इन मैक्लॉडगंज
top tourist places mcloadganj
त्रिउंड ट्रेक
tourism places mcloadganj
नामग्याल मोनेस्टरी
top places to visit in mcloadganj
भागसू नाग इन मैक्लॉडगंज

17 चितकुल पर्यटन – भारत का अंतिम गाँव

travel places chitkul
चितकुल पर्यटन

चितकुल भारत का अंत का गांव है जो हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में समुन्दर तल से 3450 मीटर की ऊंचाई पर भारत तिबत रोड के पास स्थित है किन्नौर मे स्थित यह गांव दिल्ली से लगभग 602 किलोमीटर दूर और सांगला से लगभग 24 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है ! इस गांव की विशेषता यह है की यहां कोई भी यात्री बिना परमिट के यात्रा कर सकता है ! और यह बास्पा नदी के तट पर , बास्पा घाटी का पहला गांव है ! जो अति सुन्दर है प्रकृति के वातावरण के कारण !

चितकुल भारत के एक प्रवेश द्वार की भांति है चितकुल की हरियाली भरी लुभावनी प्रकृति के कारण ऊँचे पहाड़ और घास के मैदान ,नदिया , जगल इत्यादि यहाँ के प्रमुख आकर्षण का केंद्र है इसके कारण ही यहाँ पर्यटक पर्यटन करने के लिए भारी सख्या में आते है ! और लुभावनी प्रकृति के पर्यटन का आनंद लेते है ! इस गांव के पर्यटन को ना केवल भारत के पर्यटकों द्वारा सराहया जाता है बहार के पर्यटक भी यहाँ पर्यटन करना काफी पसंद करते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • चितकुल कैसे पहुचा जाये-: शिमला से किन्नौर जाने वाली बस में बैठे और सांगला में उतर जाये वहा से लोकल बस /टैक्सी ले सकते है चितकुल के लिए दुरी 24 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल बटसेरी सांगला , स्विस कैंप इन चितकुल , सामा रिसॉर्ट्स !
  • चितकुल मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: बटसेरी गांव , माथि मंदिर चितकुल , चरंग घाटी ट्रेक , बैरिंग नाग मंदिर !
tourism places chitkul
बटसेरी गांव
best places to visit in chitkul
चरंग घाटी ट्रेक
tourist places chitkul
माथि मंदिर चितकुल
best travel places chitkul
बेरिंग नाग मंदिर

18 सोलंग वैली पर्यटन – एडवेंचर प्रेमिओ के लिए प्रसिद्ध है !

travel places in solang valley
सोलंग वैली

सोलंग घाटी हिमाचल प्रदेश के खास पर्यटन स्थानों मे से एक है जो जो मनाली से उतर पश्चिम मे 14 किलोमीटर दूर और समुन्दर तल से 8400 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है सोलंग घाटी मे मनोरंजन करने के लिए अनेक खेल और साधन उपलब्ध है उनमे मुख्य है जैसे पैराशूटिंग , पैराग्लिडिंग , मिनी -ओपन जीप ड्राइविंग और घुड़सवारी और ट्रकिंग इत्यादि ! इन खेलो को खेल कर पर्यटक सोलंग घाटी में अपना मनोरंजन कर सकते है ! सोलंग घाटी एडवेंचर ढूढ़ने वाले पर्यटकों के लिए स्वर्ग है ! इसी वजह से सोलंग घाटी इतनी प्रसिद्ध है !

जहा तक सर्दियों की बात की जाए तो पूरी सोलंग घाटी सर्दियों मे पूरी तरह से बर्फ से ढक जाती है ! और यहाँ स्कीइंग, स्नोमैकिन जैसे खेल भी खेले जाते है और इन सब प्रकार के खेलो को सिखाने के लिए वहा ट्रेनर भी होते है जो हर तरह से पर्यटकों की मदद करते है सोलंग घाटी मे हर साल देश और विदेश से बहुत सारे पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है ! जो भी पर्यटक मनाली पर्यटन करने आते है उन्हें सोलंग घाटी जरूर जाना चाहिए !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: बर्फ बारी के लिए अक्टूबर से फेब्रुअरी !
  • सोलंग घाटी कैसे पहुचा जाये-: शिमला से मनाली के लिए बस ले सकते है दुरी लगभग 265 किलोमीटर है और मनाली से सोलंग घाटी के लिए टैक्सी ले सकते है दुरी 13 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: वेनटेरफेल दा स्टे , सोलंग वैली रिसॉर्ट्स ,होटल आइस लैंड सोलंग !
  • घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: स्कीइंग इन सोलंग , पैराग्लाइडिंग इन सोलंग , जॉर्बिंग इन सोलंग !
tourist places in solang valley
स्कीइंग इन सोलंग
tourism places in solang valley
पैराग्लाइडिंग इन सोलंग
best places to visit in solang valley
जॉर्बिंग इन सोलंग

19 शोघी पर्यटन – सौंदर्य भरा स्थान के लिए प्रसिद्ध है

travel places shogi
शोघी पर्यटन

शोघी हिमाचल प्रदेश में शिमला से 14 किलोमीटर दूर सोलन की तरफ समुन्दर तल से 5700 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा शहर है ! इसके प्रसिद्ध होने का मुख्य कारण यह भी है की यह शिमला के पास है ! शोघी एक सौंदर्य से युक्त स्थल है ! शिमला मे हर साल भारी पर्यटकों के आने के कारण शोघी भी छोटा सा सुन्दर पर्यटन स्थल बन गया है यह एक छोटा सा खूबसूरत हिल स्टेशन है !

यहाँ की प्रसिद्धि का यह भी एक बड़ा कारण है की यहाँ अनेक प्रसिद्ध प्राचीन मंदिर और एड्रेनालाईन से युक्त गतिविधिया और यहाँ की जलवायु , और अच्छे आवास के कारण भी यह हिमाचल के शानदार पर्यटन स्थान के रूप मे उभर कर सामने आया है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अक्टूबर से जून
  • शोघी कैसे पहुचा जाये-: चंडीगढ़ से शोघी के लिए बस ले सकते है दुरी 105 किलोमीटर है !
  • रहने के नज़दीकी स्थान-: कोजी रिट्रीट , वुडसमोक रिसोर्ट एंड स्पा , आमोद at शोघी , शोघी इको वैली रिसोर्ट एंड स्पा , सुरो ट्री हाउस रिसोर्ट !
  • यहाँ पर और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: तारा देवी मंदिर , ट्रेकिंग इन शोघी , कंडाघाट !
tourist places shogi
तारा देवी मंदिर
tourism places shogi
ट्रैकिंग इन शोघी
best places to visit in shogi
कंडाघाट

20 तीर्थन वैली – अडवेंचरउस अभियान के लिए उत्तम

travel places tirthan valley
तीर्थन वैली

तीर्थन घाटी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले मे एक छोटा सा सुन्दर हिल स्टेशन है जो समुन्दर तल से लगभग 1600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! ये कुल्लू जिले से लगभग 50 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है ! यह घाटी बर्फ से ढकी चोटियों और तीर्थन नदी के नज़ारो के साथ मछली पकड़ने के कारण पयर्टको के बीच जानी जाती है !

इसलिए घाटी ऐसे पर्यटकों के लिए एक सही हिल स्टेशन है जो शांति की तलाश में और एक भरपूर प्रकृति के मनोरंजन की खोज कर रहे है ! तीर्थन घाटी ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के प्रवेश द्वार से 3 किलोमीटर की दुरी पर विराजमान है ! तीर्थन घाटी में साहसिक गतिविधयां भी की जा सकती है! और यह स्थल प्रकृति प्रेमिओ के लिए अच्छा है यहाँ के छोटे घुमाओ दार रास्ते पर्यटकों को दूर सूंदर हेमलटो तक ले जाते है !

  • तीर्थन घाटी मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • कैसे पहुचा जाये-: शिमला से कुल्लू के लिए बस / टेक्सी ले सकते है फिर कुल्लू से तीर्थन घाटी के लिए दुरी 50 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: तीर्थन स्ट्रीम स्पीरिट होम स्टे , ओम शांति होटल जीभी तीर्थन वैली , दा हिडन बुररौ , दा मिस्टी विल्ड्स जीभी !
  • तीर्थन घाटी में मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: तीर्थन वैली वॉटरफॉल , तीर्थन सेरोलसर लेक , ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क , तीर्थन रिवर क्रॉसिंग , तीर्थन ट्राउट फिशिंग , ट्रेकिंग इन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क !
tourism places tirthan valley
तीर्थन वैली वॉटरफॉल
best tourist places tirthan valley
ट्रैकिंग इन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क
tourist places tirthan valley
तीर्थन सेरोलसर लेक
best tourism places tirthan valley
तीर्थन रिवर क्रासिंग
best places to visit tirthan valley
ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क
places to visit in tirthan valley
तीर्थन ट्राउट फिशिंग

21 नारकंडा पर्यटन – चारो तरफ से प्रकृति के बीच

travel places narkanda
नारकंडा पर्यटन

नारकंडा हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले से 61 किलोमीटर दूर स्थित एक छोटा सा सुन्दर हिल स्टेशन है! जो चारो और से सुन्दर प्रकृति के नज़ारो के बीच बसा हुआ है ! बर्फ से ढकी ऊँची चोटिया हरियाली से भरी घाटिया और ठंडी हवा और वातावरण में शांति आदि यहाँ की कुछ ऐसी विशेषताओं के कारण ही ये पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है !

यह स्थान मुख्यत स्कीइंग और ट्रैकिंग के लिए प्रसिद्ध है ये चारो तरफ से देवदार के जगलो के बीच घिरा हुआ है और नारकंडा समुन्दर तल से 9000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ! नारकंडा में प्रकृति की सुंदरता और सेब के बगीचों के कारण ही यह प्रमुख आकर्षण का केंद्र बना है इस कारण से भी ये छोटा सा हिल स्टेशन पर्यटको के बीच इतना प्रसिद्ध हुआ है ! नारकंडा मे मंदिर और लेक भी बहुत जियादा लोकप्रिय है जिसमे प्रमुख है हाटु मंदिर और तानी जुब्बर लेक ! यहाँ पर्यटक ना केवल भारत से बल्कि विदेश से भी भारी सख्या मे आते है इस कारण भी यह छोटा सा हिल स्टेशन पर्यटन करने के लिए पर्यटकों के बीच पर्सिद है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो मे कभी भी पर्यटन के लिए जा सकते है !
  • नारकंडा कैसे पहुचा जाये-: शिमला से नारकंडा वाया रोड 61 किलोमीटर दूर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल सारा , होटल स्नोफ्लेक ,दा एप्पल होम , वाइल्ड हिमालय ग्लैम्पिंग कैंप , ऐकोर नारकंडा कॉटेजेस !
  • नारकंडा मे मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: हाटु पीक , ट्रेकिंग इन नारकंडा , स्कीइंग इन नारकंडा , तानी जुब्बर लेक , हाटू माता मंदिर !
best travel places narkanda
हाटू पीक
tourism places narkanda
स्कीइंग इन नारकंडा
tourist places narkanda
ट्रैकिंग इन नारकंडा
top tourism places narkanda
तानी जुब्बर लेक
best tourist places narkanda
सेब के बगीचे
places to visit in narkanda
हाटू माता मंदिर

22 बरोट पर्यटन – ऑफ बीट गतव्य खोज

travel places in barot
बरोट पर्यटन

बरोट हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले मे समुन्दर तल से लगभग 1819 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा सा सुन्दर गांव है जो मंडी से लगभग 37 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ! यह गांव उस समय से जियादा लोकप्रिय हुआ जब शानन जल विधुत परियोजना 1920 के आस -पास प्रस्तावित की गई थी और तब से ये गांव पर्यटन करने के लिए जाना गया !

बरोट गांव के नज़दीकी के जगल देवदार के है और यहाँ की ठंडी हवा और शांत माहौल पर्यटकों को यहाँ रहने पर बाध्य कर देती है ! यह गांव ट्रैकिंग करने के लिए और कैंपिंग के लिए भी उपयुक्त है ! बरोट हिमाचल प्रदेश में उभरता पर्यटन स्थल है यहाँ चारो और हरयाली और देवदार के पेड़ो से भरे जगल आदि यहाँ की सुंदरता को चार चाँद लगा देते है यह पर्यटन स्थल परिवार के साथ समय बिताने के लिए उत्तम है ! इस कारण से ही बरोट में काफी पर्यटक हर साल पर्यटन करने के लिए आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो में कभी भी !
  • बरोट कैसे पहुचा जाये-: पहले मंडी आओ फिर मंडी से बस/टेक्सी लो बरोट के लिए दूरी लगभग 37 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: बरोट रीजेंसी होटल , शिविरामा , दा हेंमत रिसोर्ट , वाइल्ड हाई कॉटेजेस !
  • बरोट मे मनोरंजन करने और आस पास देखने के लिए शीर्ष स्थान-: फिशिंग इन बरोट , पराशर लेक , ट्रेकिंग एंड कैंपिंग , रिवालसर लेक , पंडोह डैम , भूतनाथ मंदिर !
top travel places barot
फिशिंग इन बरोट
top tourism places barot
रिवालसर लेक
top tourist places in barot
प्रसेर लेक
places to visit in barot
पंडोह डैम
tourism places barot
ट्रैकिंग एंड कैंपिंग इन बरोट
top places to visit in barot
भूतनाथ मंदिर

23 चंबा पर्यटन – प्राचीन सौन्दर्य के लिए प्रसिद्ध है !

chamba tourism
चम्बा पर्यटन

चम्बा हिमाचल प्रदेश का एक जिला है जो समुन्दर तल से लगभग 996 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक हिमालयी शहर है ! जो प्राचीन सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है ! चम्बा को हिमाचल की दिल की धड़कन भी कहा जाता है ! चंबा अपने प्राचीन मंदिरो और गुफाओ के लिए काफी लोकप्रिय है चम्बा शहर मे 2 मेले बहुत ही लोकप्रिय है एक सुही माता मेला और दूसरा मिंजर मेला !

चम्बा शहर से आप पीर पंजाल , जास्कर और धौलादार पर्वत के लुभावने द्र्श्यो को देख सकते है ! इसलिए भी चम्बा शहर प्रसिद्ध है ! यह रावी नदी के तट पर विराजमान है ! और यहाँ हर साल काफी पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है ! यहाँ पर ट्रेकिंग करने के लिए भी बहुत सारे स्थान उपलब्ध है !

  • चम्बा मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • यहाँ पर कैसे पहुचा जाये-: पठानकोट मे रेलवे स्टेशन 119 किलोमीटर दूर है ! पठानकोट से चम्बा के लिए बस /टैक्सी ले सकते है !
  • चम्बा मे रहने के नज़दीकी स्थान-: जेके क्लार्क्स एक्सोटिका , होटल इरावती चम्बा , महाजन गेस्ट हाउस !
  • चम्बा मे मनोरंजन और आस पास देखने के लिए शीर्ष स्थान-: मणिमहेश लेक , डलहौज़ी , रंग महल चम्बा , चमेरा लेक , खज्जिआर , चम्बा का चौगान !
travel places in chamba
मणिमहेश लेक
tourism places in chamba
चमेरा लेक
tourist places in chamba
डलहौज़ी
chamba tourism
खज्जिआर

top tourist places in chamba
रंग महल चम्बा
places to visit in chamba
चम्बा का चौगान

24 मंडी पर्यटन – छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध है !

mandi tourism
मंडी

मंडी हिमाचल प्रदेश का एक जिला है, जो समुंदर तल से लगभग 2495 फीट की ऊंचाई पर कुल्लू और धर्मशाला के बीच स्थित है ! मंदिरो के अधिक होने के कारण यह छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध है !इसको पहले मांडव नगर के नाम से जानते थे ! मंडी जिले में बहुत पहाड़िया होने के कारण इसको हिल्स की वाराणसी कहा जाता है !

मंडी बियास नदी के तट पर स्थित है यह कुछ प्राचीन महलो और मंदिरो को भी प्रदर्शित करता है यहाँ पर साहसिक गतिविधयां और ट्रेकिंग आदि का भी बड़ा स्कोप है और इस कारण से यह पर्यटकों के आक्रषण का मुख्य केंद्र बना हुआ है ! यहाँ भी काफी पर्यटक हर साल पर्यटन करने के लिए आते है !

  • मंडी मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • मंडी कैसे पहुचा जाये-: भुंतर नज़दीकी हवाई अड्डा है दूरी मंडी तक वाया रोड 60 किलोमीटर है और पठानकोट नज़दीकी रेलवे स्टेशन ! वहा से बस ले सकते है ! दुरी 206 किलोमीटर है!
  • मंडी मे रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल वैली व्यू , दा रीजेंट पॉम्स होटल , राज महल पैलेस , होटल मोनाल !
  • मंडी मे मनोरंजन और आस पास देखने के लिए शीर्ष स्थान-: जालोरी पास , रिवालसर लेक, पंडोह डैम , भूतनाथ मंदिर , पराशर लेक , सूंदर नगर !
top travel places in mandi
जालोरी पास
tourism places in mandi
भूतनाथ मंदिर
tourist places in mandi
रिवालसर लेक
top tourism places in mandi
पराशर लेक

top tourist places in mandi
पंडोह डैम
top places to visit in mandi
सूंदर नगर

25 नाहन पर्यटन – रेणुका लेक के लिए प्रसिद्ध

travel places in nahan
नाहन पर्यटन

नाहन हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में एक छोटा सा सुन्दर हिल स्टेशन है जो समुंदर तल से 932 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह एक शांत और शहर के माहौल से दूर स्थित एक छोटा शहर है ! नाहन की प्रसिद्धि का मुख्य कारण रेणुका झील है ! यह प्राकृतिक झील है और इस स्थान को बहुत पवित्र माना जाता है ! नाहन में साफ सुथरी सड़के हरियाली भरे खेत और शिवालिक रेंज के बीच ये छोटा हिल स्टेशन बहुत प्यारा नज़र आता है ! नाहन में वर्तमान समय में काफी पर्यटक पर्यटन करने आने लगे है !यहाँ पर्यटक ट्रेकिंग करते हुए लुभावनी प्रकृति का आनंद ले सकते है !

  • नाहन मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • नाहन कैसे पहुचा जाये-: नाहन दिल्ली से सबसे नज़दीकी हिल स्टेशन है वाया रोड 254 किलोमीटर और नज़दीकी एयरपोर्ट चंडीगढ़ है ! और चंडीगढ़ से नाहन के लिए बस ले सकते है दुरी 85 किलोमीटर है !
  • नाहन मे रहने के नज़दीकी स्थान-: समर हिल होटल , ग्रैंड व्यू रिसोर्ट , समर हिल होटल , दा सिरमौर रिट्रीट !
  • नाहन मे मनोरंजन और पर्यटन के लिए शीर्ष स्थान-: रेणुका लेक , सुकेती फॉसिल पार्क , जैतक फोर्ट , और ट्रैकिंग इन नाहन !
tourism places in nahan
रेणुका लेक
tourist places in nahan
सुकेती फॉसिल पार्क

top places to visit in nahan
जैतक फोर्ट

26 काँगड़ा पर्यटन – रहस्य वादी नगर के लिए प्रसिद्ध है

travel places in kangra
काँगड़ा

काँगड़ा हिमाचल प्रदेश का एक जिला है जो समुन्दर से 2409 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! इस घाटी को बियास नदी , प्राचीन मंदिरो , धौलाधार रेंज और चाय की भूमि के रूप में भी जाना जाता है ! यह रहस्य वादी नगर के लिए प्रसिद्ध है ! कांगड़ा घाटी का प्राचीन इतिहास होने के साथ साथ यहाँ कई प्राचीन किले भी है ! काँगड़ा में पर्यटन करने के लिए अनेक स्थान है! इनमे प्रसिद्ध है ज्वाला देवी मंदिर जो अपनी सालो से जलती लॉ के लिए प्रसिद्ध है जो बिना किसी स्तोत्र के सालो से जल रही है इस प्राचीन मंदिर ने विश्व के विज्ञानिको को सवालों के दायरे में खड़ा कर रखा है ! ये किस प्रकार का चमत्कार है इस का पता लगाना बहुत ही मुश्किल है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अक्टूबर से जून
  • काँगड़ा कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ और चंडीगढ़ से काँगड़ा वाया रोड 225 किलोमीटर दूर है नज़दीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है जो काँगड़ा से 88 किलोमीटर दूर है फिर बस /टेक्सी ले सकते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल काँगड़ा रोडवे , होटल दा ग्रैंड राज , होटल ओसिस , होटल रॉयल ताज!
  • काँगड़ा मे देखने और पर्यटन करने के लिए शीर्ष स्थान-: काँगड़ा फोर्ट , ज्वाला देवी मंदिर , ब्रजेश्वरी मंदिर , करेरी लेक , बैजनाथ मंदिर , धौलाधार रेंज !
top travel places in kangra
काँगड़ा फोर्ट
tourism places in kangra
करेरी लेक
tourist places in kangra
ज्वाला देवी मंदिर
top tourism places in kangra
बैजनाथ मंदिर
top tourist places in kangra
ब्रजेश्वरी मंदिर
places to visit in kangra
धौलाधार रेंज

27 भुंतर पर्यटन – उद्यान और धार्मिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है !

places to visit in bhunter
भुंतर

भुंतर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले का एक छोटा सा शहर है ! जो समुन्दर तल से 3573 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! भुंतर का इस्तेमाल कुल्लू , मनाली , मणिकरण ,कसोल आदि शहर की तरफ जाने के लिए किया जाता है ! भुंतर इन सब जगहों पर जाने का प्रवेश द्वार है ! और कुल्लू का प्रसिद्ध हवाई अड्डा भी भुंतर के अंदर ही है !

यहाँ का शांत वातावरण और हरे भरी हरियाली से घिरे हुए पहाड़ पर्यटकों के मन को मोह लेते है ! भुंतर उद्यान और धार्मिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है ! भुंतर में उच्च धार्मिक मंदिरो के इलावा एक राष्ट्रीय उद्यान और कैंपिंग स्थल भी मौजूद है यह स्थान पर्यटकों के पर्यटन के लिए काफी अच्छी है और यहाँ पर्यटकों के आने की गति प्रतिदिन बढ़ रही है इसका मुख्य वजह यहाँ हवाई अड्डे का होना है ! और पास के प्रसिद्ध पर्यटक क्षेत्र है!

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • भुंतर कैसे पहुचा जाये-: शिमला से भुंतर वाया रोड 199 किलोमीटर है और वैसे भी भुंतर में हवाई अड्डा है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल अमित , सी रॉक होटल , होटल बाला जी इन् , दा तारा विला होटल !
  • भुंतर मे देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: बिजली महादेव , जगन्नाथ मंदिर , भुंतर !
top travel places in bhunter
बिजली महादेव
tourism places in bhunter
जगन्नाथ मंदिर
tourist places in bhunter
भुंतर

28 बिलासपुर पर्यटन – किलों और गोबिंद झील के लिए प्रसिद्ध है !

best travel places in bilaspur
बिलासपुर

बिलासपुर शिमला के नज़दीक एक पहाड़ी शहर है जो अपने किलो और गोबिंद सागर झील जो मानव द्वारा सतलुज नदी पर बनाई गई है के लिए प्रसिद्ध है ! गोबिंद सागर झील प्रसिद्ध भाखड़ा बाँध को पानी की सप्लाई देता है ! भाकड़ा बाँध भारत का सबसे ऊँचे बांधो में से एक है ! यहाँ के कंदरौर में पुल जो गोबिंद सागर झील पर बना है एशिया का सबसे ऊँचा सड़क पुल है !

  • बिलासपुर मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • यहाँ कैसे पहुचा जाये-: चंडीगढ़ से बिलासपुर वाया रोड 120 किलोमीटर है और नज़दीकी रेलवे स्टेशन किरतपुर साहिब में है और किरतपुर साहिब से दुरी 66 किलोमीटर है बिलासपुर के लिए वाया रोड !
  • बिलासपुर मे रहने के नज़दीकी स्थान-: कॉन्ट्रियार्ड बाय मेर्रियत बिलासपुर , होटल सागर व्यू , होटल लेक व्यू बिलासपुर , होटल प्रेम सागर , धौलरा रिसोर्ट !
  • बिलासपुर मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: वॉन्डर वर्ल्ड थीम पार्क , कानन पेंडारी जूलॉजिकल गार्डन , वाटर पार्क , भाकड़ा बांध , गोबिंद सागर लेक , नैना देवी मंदिर !
top tourism places in bilaspur
वॉन्डर वर्ल्ड थीम पार्क
top tourist places in bilaspur
भाकड़ा बांध
tourism places in bilaspur
कानन पेंडारी जूलॉजिकल गार्डन
top places to visit in bilaspur
गोबिंद सागर लेक
tourist places in bilaspur
वाटर पार्क
top places to visit in himachal pradesh
नैना देवी

29 कल्पा पर्यटन – प्राचीन सुंदरता और सुंदर मठ के लिए प्रसिद्ध है !

travel places in kalpa
कल्पा

कल्पा किन्नौर जिले का एक सुन्दर छोटा गांव है जो समुन्दर तल से 2960 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है !यह प्राचीन सुंदरता और मठो के लिए प्रसिद्ध है ! कल्पा में पवित्र मंदिरो के होने के कारण ये पर्यटकों में काफी लोकप्रिय है ! कल्पा सेब के बगीचों के लिए भी प्रसिद्ध है ! यहाँ सतलुज नदी के पार किन्नर कैलाश का लुभावना द्रश्य पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • कल्पा कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा शिमला है और नज़दीकी रेलवे स्टेशन भी शिमला है और शिमला से कल्पा के लिए बस /टेक्सी ले दुरी वाया रोड 225 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल कल्पा देशंग , फर्मविला होमस्टे कल्पा , दा अल्पाइन नेस्ट , टैब एक्सोटिक कल्पा !
  • कल्पा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: किन्नौर कैलाश , कोठी माता मंदिर , कमरू फोर्ट कल्पा , नारायण नागिनी टेम्पल , हु बू लेन कर मोनेस्टरी इन कल्पा , कल्पा सपनी फोर्ट , कल्पा सुसाइड पॉइंट !
top travel places in kalpa
किन्नौर कैलाश ट्रेक
tourist places in kalpa
नारायण नागिनी मंदिर

tourism places in kalpa
कामरु फोर्ट कल्पा
top tourist places in kalpa
हु बू लें कर मोनेस्टरी
top tourism places in kalpa
कोठी माता मंदिर
top places to visit in kalpa
सपनी फोर्ट कल्पा

30 तत्तापानी – चमत्कार के किस्से के लिए प्रसिद्ध है !

best places to visit in tatapani
तातापानी

तातापानी हिमाचल प्रदेश में एक प्रसिद्ध स्थान है जो समुन्दर तल से लगभग 682 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! जो शिमला से 52 किलोमीटर दूर सतलुज नदी के तट पर स्थित है जो गर्म सल्फर स्प्रिंग के लिए बहुत जियादा प्रसिद्ध है ! तातापानी चमत्कार के किस्सों के लिए प्रसिद्ध है ! इन चमत्कारों में मुख्य चमत्कार है गर्म पानी का निकलना !

यहाँ पर कई प्रकार की गतिविधियों की जा सकती है इसमें मुख्य है रिवर राफ्टिंग , जॉर्बिंग , स्कीइंग , पैराग्लिडिंग ट्रेकिंग आदि ! तातापानी में शिव गुफाएं स्थानीय लोगो और पर्यटकों के बीच में बहुत प्रसिद्ध है ! इसलिए यहाँ पे बहुत सारे पर्यटक हर साल देश विदेश से पर्यटन करने के लिए आते है ! तातापानी में बहुत से मंदिर है ! और पर्यटकों को इनमे दर्शन करना चाहिए !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: नवंबर से जून !
  • तातापानी कैसे पहुचा जाये-: शिमला में रेलवे स्टेशन है वहा से बस / टेक्सी ले सकते है दुरी 52 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल हॉट स्प्रिंग तातापानी , ओयो 29117 हॉट स्प्रिंग , होटल डी क्राउन , ओयो 28868 न्यू स्प्रिंग व्यू !
  • तातापानी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग इन तातापानी , शिवा केव , रिवर राफ्टिंग , हॉट वाटर स्प्रिंग , एडवेंचर पार्क , हनुमान मंदिर , माहुंनाग !
tourism places in tatapani
ट्रेकिंग इन तातापानी
best tourist places in tatapani
हॉट वाटर स्प्रिंग
tourist places in tatapani
शिवा केव
top tourism places in tatapani
माहु नाग
top places to visit in tatapani
रिवर राफ्टिंग
top places to visit in tatapani
हनुमान मंदिर

31 शोजा पर्यटन – शांत स्थान मे शुद्व छिपा रत्न

best places to visit in shoja
शोजा

शोजा बंजार घाटियों के बीच एक सुन्दर सा छोटा गांव है ! और यहाँ जियादातर मंदिर लकड़ी से बनवाए गए है ! और ये सारे मंदिर बहुत पुराने है ! शोजा लगभग 5 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है जलोरी पास से ! शोजा शांत गांव में शुद्ध छिपा रत्न है यह गांव बर्फ से ढके पहाड़ो और अपने किलों, झील और झरनो तथा देवदार के वनो के लिए प्रसिद्ध है ! और शोजा में ये सब कुछ पर्यटकों के आकर्षण का महत्वपूर्ण केंद्र है !

शोजा में पर्यटक ट्रेकिंग करते हुए हरे भरे जगलो में प्रकृति के सुन्दर नज़ारो का अनुभव कर सकते है ! यह एक ऐसा पर्यटन स्थल है जहा पर्यटक अपने परिवार के साथ शानदार समय वयतीत कर सकते है ! यहाँ हर साल भारी मात्रा में पर्यटक पर्यटन करने आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • शोजा कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी एयरपोर्ट भुंतर है और वहा से शोजा के लिए 54 किलोमीटर है शिमला से भुंतर सड़क मार्ग द्वारा 206 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-:ग्रेट हिमालयन एडवेंचर , बंजारा रिट्रीट एंड कॉटेज , दा हिडन बोर्रोव!
  • शोजा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: वॉटरफॉल पॉइंट , जालोरी पास , सेरोलसर लेक , तीर्थन वैली शोजा , रघुपुर फोर्ट , ट्रेकिंग इन शोजा !
top tourism places in shoja
ट्रेकिंग इन शोजा
top tourist places in shoja
सेरोलसर लेक
best tourism places in shoja
वॉटरफॉल पॉइंट
top places to visit in shoja
तीर्थन वैली
best tourist places in shoja
जालोरी पास
best places to visit in himachal pradesh
रघुपुर फोर्ट ट्रेक

32 मणिकरण साहिब पर्यटन – हिन्दुओ और सिखों का तीर्थ स्थान

मणिकरण साहिब

मणिकरण हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में समुन्दर तल से 1829 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! और मणिकरण को हिन्दुओ और सीखो का तीर्थ स्थान माना जाता है जो कसोल से 4 किलोमीटर की दूरी पर है ! मणिकरण साहिब में अनेक मंदिर और गर्म पानी के झरने मौजूद है ! यहाँ 3 गरम पानी के झरने है! जिनका प्रयोग लगर का खाना बनाने में होता है ! और यह सब होने कारण ही ये पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है ! यहाँ जो ये गरम पानी के झरने है इस पानी से शरीर की सारी बीमारिया दूर होती है ! इसलिए मणिकरण में बहुत सारे पर्यटक पर्यटन करने के लिए हर साल आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: सितम्बर से जून !
  • मणिकरण साहिब कैसे पहुचा जाये-: कुल्लू से लोकल बस से कसोल आओ फिर बस /टेक्सी से मणिकरण जाओ !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: दा रेनबो इन् , होटल रॉयल पैलेस मणिकरण , होटल सन एन विंड !
  • मणिकरण साहिब मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: लार्ड रामचंद्रा मंदिर , भगवान शिव का मंदिर , हॉट स्प्रिंग इन मणिकरण , हरिन्दर माउंटेन , गुरुद्वारा , कुलांत पीठ !
top tourist places in manikaran
भगवान रामचंद्रा मंदिर
top tourism places in manikaran
हरिंदर माउंटेन एंड पार्वती नदी
best tourist places in manikaran
भगवान शिव मंदिर
best tourist places in himachal pradesh
गुरुद्वारा इन मणिकरण

best tourism places in manikaran
हॉट स्प्रिंग्स इन मणिकरण
best tourism places in himachal pradesh
कुलंत पीठ

33 सोलन पर्यटन – भारत की मशरूम राजधानी

best places to visit in solan
सोलन

सोलन हिमाचल प्रदेश का एक जिला है जो समुन्दर तल से 1600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह बहुत सुन्दर शहर है ये हिमालय के निचले हिसे में बसा हुआ है ! सोलन को लाल सोने का शहर भी कहते है ! ये शहर भारत देश का सबसे बड़ा मशरूम उत्पादन करने वाला शहर है ! और इस शहर में टमाटर का भी बहुत जियादा उत्पादन होता है !

इस शहर में बहुत प्राचीन मंदिर और मठ भी है ! इसके कारण यहाँ लगातार पर्यटक आते जाते रहते है ! सोलन शहर मशरूम का उत्पादन करने में बड़ा जिला है ! इस वजह से भी ये प्रसिद्ध है ! और इसको मशरूम की राजधानी कहा जाता है ! सोलन शहर में प्रसिद्ध मंदिर भी है जिनमे प्रमुख है शूलनि माता मंदिर और जाटोली शिव मंदिर यहाँ के प्रमुख आकर्षण का केंद्र है ! भारी सख्या में पर्यटक इन मंदिरो में दर्शन करने आते है ! पर्यटक यहाँ पर ट्रेकिंग भी कर सकते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो में कभी भी पर्यटक सोलन के लिए पर्यटन करने आ सकते है !
  • सोलन कैसे पहुचा जाये-: सोलन चंडीगढ़ से बस और ट्रैन में आ सकते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल विनसम हिल , मयूर होटल बार एंड रेस्टोरेंट, वैली व्यू बड़ोग !
  • सोलन मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: सोलन ब्रेवरी , शूलनि माता मंदिर , कुठार फोर्ट, कसौली , चायल !
top places to visit in solan
सोलन ब्रेवरी
top tourism places in solan
कसौली
best tourist places in solan
शूलनि माता मंदिर
best tourism places in solan
चायल
top tourist places in solan
कुठार फोर्ट
top tourism places in himachal pradesh
शॉपिंग इन सोलन

34 सांगला घाटी पर्यटन – आकर्षक घाटियों के लिए प्रसिद्ध है !

best places to visit in sangla
सांगला

सांगला घाटी हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में समुन्दर तल से 2621 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह घाटी बर्फ से ढके ऊँचे पहाड़ और सेब के बगीचों और चेरी के बगीचों के लिए लोकप्रिय है ! बास्पा नदी भी कई स्थानों में सांगला घाटी से गुजरती है ! यह आकर्षक घाटियों के लिए प्रसिद्ध है ! सांगला घाटी में कई प्राचीन मंदिर भी है ये घाटी मछली पकड़ने के लिए भी काफी प्रसिद्ध है ! यहाँ पर पर्यटक भारी मात्रा में पर्यटन के लिए आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जून और सितम्बर से दिसंबर !
  • सांगला घाटी कैसे पहुचा जाये-: शिमला से बस /टेक्सी लेकर सांगला पहुचा जा सकता है दुरी वाया रोड 224 किलोमीटर है !
  • घाटी मे रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल बटसेरी सांगला किन्नौर , लेक व्यू रिसोर्ट किन्नौर , बंजारा कैम्प्स एंड रिट्रीट , दा वंडेरेर नेस्ट !
  • सांगला घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: बास्पा वैली , कमरू फोर्ट , बास्पा रिवर , सांगला मीडो , बेरिंग नाग मंदिर !
best tourist places in sangla valley
बास्पा वैली
top tourist places in himachal pradesh
सांगला घास का मैदान
top tourist places in sangla valley
कमरू फोर्ट
tourism places in himachal pradesh
बेरिंग नाग मंदिर
tourism places in sangla
बास्पा रिवर
tourist places in himachal pradesh
चितकुल

35 नालागढ़ पर्यटन – शांति के लिए प्रसिद्ध है!

नालागढ़

नालागढ़ हिमाचल प्रदेश में एक पहाड़ी शहर है ! इतिहास के अनुसार , इस सुन्दर शहर की स्थापना 1100 ए डी में राजपूत राजाओ द्वारा की गई थी !

यह हरी भरी हरियाली और सिरसा नदी के किनारे में शिवालिक पहाड़िओ के सुंदर दृश्यों को दर्शाता है ! नालागढ़ शांति के लिए प्रसिद्ध है ! नालागढ़ में नालागढ़ क़िला आकर्षण का महत्वपूर्ण केंद्र है लेकिन अब इस किले को हेरिटेज होटल में बदल दिया गया है ! और ये अब पर्यटकों के पर्यटन का मुख्य केंद्र बना हुआ है ! नालागढ़ एक उभरता हुआ उद्योगों का शहर है इस शहर में चमड़े , रसायन , इस्पात , और धागा मिलो के अतिरिक्त और भी बहुत सारे कारखाने है ! नालागढ़ में कुछ प्रसिद्ध किले भी है जैसे की सूरजपुर और मोलोन प्रमुख किले है ! पर्यटक यहाँ भारी सख्या में आते है ! और यहाँ की प्रकृति का खूब आनंद उठाते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: सितम्बर से मार्च !
  • नालागढ़ कैसे पहुचा जाये-: नालागढ़ के लिए बस में आसानी से आ सकते है चंडीगढ़ से दुरी 48 किलोमीटर है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: नालागढ़ हेरिटेज रिसोर्ट, फोर्ट नालागढ़ , होटल ज्ञानज , ओयो 47040 वाइब्स होटल , ग्रीन एन्क्लेव !
  • नालागढ़ मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: नालागढ़ फोर्ट , रामगढ फोर्ट नालागढ़ , यादविंद्रा गार्डन्स नालागढ़ !
tourist places in nalagarh
नालागढ़ फोर्ट
nalagarh tourism
रामगढ फोर्ट नालागढ़
top places to visit in nalagarh
यदविंद्रा गार्डन्स

36 परवाणू पर्यट – हिमाचल प्रदेश का प्रवेश द्वार !

places to visit in parwano
परवाणू

परवाणू हिमाचल प्रदेश का प्रवेश द्वार होने के कारण प्रसिद्ध है ! क्यों की जब भी किसी को चंडीगढ़ दिल्ली से हिमाचल प्रदेश में प्रवेश करना होता है तो उसे परवाणू प्रवेश द्वार से ही आना होता है ! यह चंडीगढ़ से 30 किलोमीटर की दुरी पर स्थित एक छोटा सा हिल स्टेशन है ! परवाणू अब एक आद्योगिक शहर के रूप में तब्दील हो गया है जो अपने खाद्य मिलो और दवा के उद्योगों के लिए जाना जाता है ! यहाँ पर पर्यटकों के ट्रेकिंग और साहसिक गतिविधियों के लिए भी स्कोप है !

परवाणू हरियाणा और हिमाचल की सीमा पर स्थित है ! पर्यटक यहाँ ट्रेकिंग और हाईकिंग भी कर सकते है इस कारण से भी ये छोटा सा हिल स्टेशन पर्यटन के लिए उपयुक्त है ! परवाणू हिमाचल प्रदेश का प्रवेश द्वार होने के कारण यहाँ बहुत सारे पर्यटक हर साल पर्यटन के लिए आते है ! इसका मुख्य कारण यह भी है की यह स्टेशन चंडीगढ़ के बिलकुल पास में स्थित है !

  • परवाणू मे पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: फेब्रुअरी से अप्रैल और सितम्बर से दिसंबर !
  • परवाणू कैसे पहुचा जाये-: ट्रैन और बस से परवाणू पहुच सकते है ! चंडीगढ़ से परवाणू 30 किलोमीटर दूर है वाया रोड !
  • परवाणू मे रहने के नज़दीकी स्थान-: मोक्षा हिमालय स्पा रिसोर्ट , टिम्बर ट्रेल हाइट्स , विंडसमूर , टिम्बर ट्रेल रिसोर्ट , होटल विरसा , होटल ऑस्कर !
  • परवाणू मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: टिम्बर ट्रेल , कालीमाता मंदिर , पिंजौर !
tourist places in parwanoo
टिम्बर ट्रेल
tourism places in parwano
काली माता मंदिर
best places to visit in parwano
पिंजौर

37 नाग्गर – प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है !

top tourist places in kullu
नाग्गर

नाग्गर हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू से 24 किलोमीटर दुरी पर स्थित दो हेरिटेज वाला एक बड़ा गांव है ! जो समुन्दर तल से 5750 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है और ब्यास नदी के बाय किनारे पर स्थित है ! नाग्गर की लुभावनी प्रकृति के शानदार दृश्य पर्यटको को अपनी और आकर्षित करती है ! वैसे भी नाग्गर प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए प्रसिद्ध है !

यह स्थान हरे भरे देवदार के जगलो से घिरा हुआ और चारो और हरियाली से युक्त ट्रेकिंग और अन्य साहसिक गतिविधियों के लिए उचित है ! नाग्गर आचर्यजनक प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है! ये खास तौर से उन पर्यटकों के लिए सही है जो प्रकृति की गोद में रहकर अनेक प्रकार के कार्यो में मनोरंजन करना चाहते है ! नाग्गर में हर साल काफी पर्यटक आते है और प्रकृति का खूब आनंद लेते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • नाग्गकैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है वहा से कुल्लू के लिए बस/टेक्सी ले सकते है दुरी 9 किलोमीटर वाया रोड और कुल्लू से नग्गर के लिए भी बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 24 किलोमीटर है वाया रोड ! और नज़दीकी रेलवे स्टेशन जोगिन्दर नगर है !
  • नाग्गर मे रहने के नज़दीकी स्थान-: हिमालयन ब्रदरस एडवेंचर , सोहंस चेतिओ दी नाग्गर , होटल शीतल , नाग्गर होम स्टे!
  • नाग्गर मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: गौरी शंकर मंदिर , ट्रैकिंग इन नाग्गर , जागतिपत्त मंदिर , उरुस्वाति हिमालयन फोक आर्ट म्यूजियम , नाग्गर कैसल , दाग्पो शदरूपलिंग मोनेस्टरी इन नाग्गर !
places to visit in kullu
गौरी शंकर मंदिर
best tourist places in kullu
उरुस्वाति हिमालयन फोक आर्ट म्यूजियम
kullu tourism
ट्रेकिंग इन नाग्गर
best travel places in kullu
नाग्गर कैसल
tourism places in kullu
जागतिपत्त मंदिर
himachal tourism
डेगपो शेडरूपलिंग मोनेस्टरी

38 अर्की पर्यटन – शांत शहर के रूप मे प्रसिद्ध है !

tourist places in arki
अर्की

अर्की हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में समुन्दर तल से 1045 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा सा शहर है! और यह शहर 18 वी शताब्दी के अंत में निर्मित अपने किले के लिए प्रसिद्ध है , जब अर्की शहर बाघल के पूर्वर्ती पहाड़ी राज्य की राजधानी हुआ करता था !

यह शहर शिमला से 38 किलोमीटर दूर स्थित है अर्की अपने पुराने मंदिरो जैसे लुटरू महादेव मंदिर और जखोली देवी मंदिर अदि के कारण प्रसिद्ध है ! अर्की की जलवायु और स्वछ प्रकृति अर्की को एक अनुकूल पर्यटक स्थल बनाते है ! अर्की शांत शहर के रूप में प्रसिद्ध है अर्की में पर्यटक ट्रेकिंग और दूसरी साहसिक गतिविधिया भी कर सकते है ! इसलिए यहाँ पर्यटक काफी मात्रा में हर साल पर्यटन करने के लिए आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो में कभी भी अर्की में पर्यटन के लिए आ सकते है !
  • अर्की कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन कालका है जो लगभग 80 किलोमीटर दूर है कालका से सोलन बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 41 किलोमीटर और फिर सोलन से अर्की के लिए बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 42 किलोमीटर है !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: नक्षत्रा रिसोर्ट शिमला (कुनिहार ), होटल पैलेस व्यू , सुरो ट्री हाउस रिसोर्ट , होटल दामी रिट्रीट !
  • अर्की मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: अर्की फोर्ट , लक्समीनारयण मंदिर , लुटरू महादेव मंदिर , भद्रा काली मंदिर , दीवान-इ -खास , अर्की पैलेस !
places to visit in arki
अर्की फोर्ट
top places to visit in arki
भद्रा काली मंदिर
best places to visit in arki
लक्समीनारायण मंदिर
best travel places in arki
दीवान-इ -खास
tourism places in arki
लुटरू महदेव मंदिर
tourist places in arki
अर्की पैलेस

39 सरचू पर्यटन – शिविर मे निवास करना

best places to visit in sarchu
सरचू

सरचू एक मुख्य पड़ाव बिंदु है जो हिमाचल प्रदेश और लदाक के बीच की सीमा पर लैह -मनाली राजमार्ग पर हिमालय में टेन्डेड आवास के साथ स्थित है! यह दक्षिण में बरलाचा ला और उतर में लाचुलुंग ला के बीच 14070 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है !

सरचू अक्सर मनाली -लेह राजमार्ग के यात्रा में लगभग 2 दिन लगते है इसलिए यात्री और पर्यटक रात भर यहाँ रुकते है! और यहाँ एक भारतीय सेना का शिविर त्साऱप चु नदी के तट पर पास में स्थित है ! सरचू में सर्दियों के दौरान राजमार्ग और शिविर बर्फ के कारण बंद हो जाते है ! सरचू का इस्तेमाल लद्दाख के जास्कर क्षेत्र में कठिन ट्रेक के लिए शुरुआती बिंदु के रूप में किया जाता है ! इन कारणों से सरचू उभरता पर्यटन स्थल है ! यहाँ काफी पर्यटक पर्यटन करने हर साल आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अगस्त !
  • सरचू कैसे पहुचा जाये-: कुल्लू से बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 263 किलोमीटर है
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: हिमालयन रुट्स कैंप , आंतरिक कैम्प्स , गरजहा हिल साइट ट्रेकिंग एंड कैंपिंग !
  • सरचू मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: लाचू लंग ला , नाकी ला , गाता लूप्स , पैंग , सरचू ,
tourist places in sarchu
लाचू लंग ला
manali tourism
गाता लूप्स

40 रुमसू – दर्शनीय और सुंदरता के लिए प्रसिद्ध

travel places in rumsu
रूमसू

रूमसू हिमाचल प्रदेश में एक छोटा सा सुन्दर गांव है जो 2064 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह स्थान अपनी सहासिक गतिविधियों और प्रकृति की सुंदरता के लिए काफी चर्चा में है ! इसलिए रूमसू हिमाचल प्रदेश में एक सूंदर स्थान है यहाँ पर्यटक ट्रेकिंग हाईकिंग और कई प्रकार की गतिविधिया कर सकते है यह एक शांत स्थान है इस वजह से भी यह स्थान पर्यटन के लिए प्रसिद्ध हुआ है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जून और अक्टूबर !
  • रूमसू कैसे पहुचा जाये-: आप बस /टेक्सी ले सकते है रूमसू के लिए !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: हिमालयन ब्रदर्स एडवेंचर , ज़ोस्टल होम्स रूमसू , हेरिटेज विलेज रिसॉर्ट्स !
  • रूमसू मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग , हाईकिंग , कुल्लू , खीरगंगा , कसोल , मनाली !

41 पौंटा साहिब पर्यटन – धार्मिक आकर्षण

best places to visit in paunta sahib
पौंटा साहिब

पौंटा साहिब हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में समुन्दर तल से लगभग 389 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह यमुना नदी के तट पर सिखों का एक पूजनीय स्थान और ये माना जाता है की गुरु गोबिंद सिंह द्वारा पवित्र ग्रन्थ , दशम ग्रंथ का एक बड़ा हिंसा यहाँ लिखे जाने के बाद , गुरु गोबिंद सिंह की याद में यहाँ एक बड़ा गुरुद्वारा बनाया गया है ! पौंटा साहिब धार्मिक आकर्षण के लिए प्रसिद्ध है ! यहाँ पर पर्यटक ट्रैकिंग एंड कैंपिंग के इलावा गुरूद्वारे के दर्शन कर सकते है !

पौंटा साहिब गुरूद्वारे में गुरु जी के युद्धक प्राचीन वस्तुओ और अन्य हत्यारो के साथ एक सग्राहलय भी है ! गुरुजी ने शहर में अपने जीवन के बिताय समय को सबसे सुखद वर्षो के रूप में वर्णित किया है ! अंतत पौंटा साहिब में ट्रकिंग और हाईकिंग के लिए भी उचित है इन सब वजहों से भी पर्यटक यहाँ आना पसंद करते है ! यहाँ हर साल बड़ी मात्रा में पर्यटक पर्यटन के लिए आते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: फेब्रुअरी से अप्रैल और सितम्बर से दिसंबर !
  • पौंटा साहिब कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा देहरादून है जो चंडीगढ़ दिल्ली से सीधा संपर्क में है दुरी 61 किलोमीटर और नज़दीकी रेलवे स्टेशन भी देहरादून है दुरी 45 किलोमीटर वहा से बस /टेक्सी ले सकते है पौंटा साहिब के लिए !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल रॉक वुड , होटल गुरु सुरभि , होटल यमुना पौंटा , होटल निर्मल बार एंड रेस्टोरेंट !
  • पौंटा साहिब मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: गुरुद्वारा पौंटा साहिब , आसान लेक , कलेसर नेशनल पार्क , आसान बैरेज बर्ड सैंक्चुअरी , सिंबलवाड़ा वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी !
tourist places in paunta sahib
गुरुद्वारा पौंटा साहिब
tourism places in paunta sahib
कलेसर नेशनल पार्क
top places to visit in paunta sahib
आसान लेक
places to visit in paunta sahib
आसान बैरेज बर्ड सैंक्चुअरी

42 केलोंग पर्यटन – कर्दंग मोनेस्टरी के लिए प्रसिद्ध

best places to visit in keylong
केलोंग

केलोंग हिमाचल प्रदेश में पर्यटकों के घूमने के लिए सबसे दिलचस्प स्थानों में से एक है ! यह 3440 मीटर की ऊंचाई पर लाहौल क्षेत्र में सबसे अधिक आबादी वाला स्थान है !

केलोंग कर्दंग मठ के कारण बहुत प्रसिद्ध है जो लाहौल में सबसे बड़ा और महत्व पूर्ण मठ है! इसको देखने के लिए पर्यटक देश विदेश से यहाँ आते है! और केलोंग में ट्रेकिंग , कैंपिंग भी की जा सकती है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अगस्त से नवंबर
  • केलोंग कैसे पहुचा जाये-: बस /टेक्सी से केलोंग की यात्रा करना ही सही साधन है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: दा चंद्रभागा , होटल डे किड , होटल दुपचन इन् , होटल गयस्पा , स्नो फलैक्स रिसोर्ट !
  • केलोंग मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: कर्दंग मोनेस्टरी , शाशुर गोम्पा मोनेस्टरी , ट्राइबल म्यूजियम केलोंग !
top places to visit in keylong
ट्रेकिंग इन केलोंग
best tourist places in keylong
कर्दंग मोनेस्टरी
tourist places in keylong
शाशुर गोम्पा मोनेस्टरी

43 लोसार पर्यटन – ट्रेकर का स्वर्ग

best places to visit in losar
लोसार

यह एक छोटा हेमलेट है जो समुंदर तल से 13400 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! लोसार में शानदार दृश्य और विभिन रंगीन पाहडो और झरनो का सगम है ! इसको ट्रेकर्स और हाइकर का स्वर्ग माना जाता है !

लोसार हिमाचल प्रदेश में घूमने के लिए लोकप्रिय स्थानों में से एक है यहाँ के घुमाओ दार रास्ते और आस पास का नज़ारा शांत गांव आदि कुछ ऐसी प्रमुख कारण है! जिसकी वजह से यहाँ पर्यटक आना पसंद करते है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से सितम्बर तक !
  • लोसार कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी बस स्टैंड काज़ा है वहा से लोसार नज़दीक है बस /टेक्सी ले सकते है!
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: दा नोमाण्ड्स कॉटेज , स्पीति सोजॉर्न , स्पीति नेचर कैंप , जामिकास कैम्प्स !
  • लोसार मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग एंड बाइकिंग इन लोसार !

44 लाहौल वैली – असली और जादवी

top places to visit in lahol valley
लाहौल वैली

लाहौल घाटी असली और जादवी पर्यटन स्थलों में से एक है ! यह घाटी 4270 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! जो फोटो ग्राफी और साफ सुथरा वातावरण की खोज में है उनके लिए पर्यटन करने की सबसे अच्छी जगह है ! लाहौल घाटी ट्रेकिंग करने के लिए भी उपयुक्त जगह है ! लाहौल घाटी में हर साल बहुत सारे पर्यटक देश विदेश से पर्यटन करने के लिए आते है ! और यहाँ आकर ट्रेकिंग और सुन्दर घाटियों में फोटोग्राफी करते है और यहाँ के वातावरण का खूब आनंद लेते है !

  • लाहौल घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से सितम्बर !
  • लाहौल घाटी कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ है ! और शिमला भी है शिमला से लाहौल के लिए बस या टेक्सी ले सकते है दुरी 375 किलोमीटर है !
  • लाहौल घाटी मे रहने के नज़दीकी स्थान-: गेमूर खार , ज़ॉस्टल , दा हिमालयन , होटल डेज़ोर !
  • लाहौल घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: स्पीति वैली ,चन्द्रा ताल , पिन वैली नेशनल पार्क , हैम्पटा पास ट्रेक !
best places to visit in lahol valley
स्पीति वैली
lahol tourism
पिन वैली नेशनल पार्क
best tourist places in lahol
चन्द्रा ताल लेक
top places to visit in lahol valley
हैम्पटा पास ट्रेक

45 बियास कुंड ट्रेक पर्यटन – बियास नदी का अदभुत द्रश्य

top places to visit in manali
ब्यास कुंड ट्रेक

बियास कुंड ट्रेक मनाली के प्रमुख ट्रेको में से ये सबसे लोकप्रिय ट्रेक है ! यह ट्रेक आपको शहर के जीवन की हलचल से दूर ले जाता है और बियास नदी के ऊपर पीर पंजाल पर्वत श्रखला के उत्कृष्ट दृश्य को देखने का अवसर प्राप्त करवाता है !

बियास कुन्ड़ ट्रेक का पहला पड़ाव मनाली से धुंदी रोड लिंक के माध्यम से सोलंग घाटी तक जाता है ! ये ढलान स्कीइंग के लिए प्रसिद्ध है ! और ये वास्तव में हिमाचल प्रदेश में कई ट्रैक के लिए शुरुआती बिंदु है और फिर आपको पैदल चलकर धुंदी पहुंचना होगा या आप कोई गाइड भी ले सकते है! और जो बियास कुंड ट्रेक है इसके रास्ते में आप बहुत मनोरंजन करगे ठंडी हवा ग्लेश्यिर का दृश्य आपकी यात्रा को और भी मज़ेदार बनाएगा ! बियास नदी के अदभुद द्रश्य के लिए प्रसिद्ध है ! पूरा भर्मण करने के बाद आपको बाकरताच लौटना है !

  • बियास कुंड ट्रेक में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से अक्टूबर
  • बियास कुंड ट्रेक कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ है जो लगभग 312 किलोमीटर दूर है ! और आप बस /टेक्सी भी ले सकते है डायरेक्ट मनाली के लिए !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: हॉलिडे हाइट्स मनाली , संध्या रिसोर्ट एंड स्पा मनाली , उतोपिका रिसोर्ट मनाली , होटल ओसियन ब्लू , एप्पल कंट्री रिसोर्ट!
  • बियास कुंड ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: सोलंग मैदान में बर्फ के खेल पैराग्लाइडिंग और गंडोला की सवारी के लिए प्रसिद्ध है ! बियास नदी इसके माध्यम से बहती है नदी के किनारे का आनंद लेने के लिए कुछ सुदंर स्थान है !

46 रोहतांग पास पर्यटन – यात्रा कार्यक्रम का आकर्षण

best places to visit in manali
रोहतांग पास

रोहतांग पास जब आप मनाली की यात्रा करने जाओ तब एक दिन रोहतांग दरें की यात्रा जरूर कर लो ! यह दर्रा मनाली से 51 किलोमीटर दूर और 3979 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है !

रोहतांग दर्रा अपनी अनोखी प्राकृतिक सुंदरता के कारण फिल्म निर्देशकों के समुदायों के बीच एक पसंदीदा जगह है ! इसलिए ब्लॉक बस्टर जब वी मेट और ये जवानी है दीवानी मूवी यहाँ शूट की गई है ! यह दर्रा यात्रा करने के लिए प्रसिद्ध स्थान है इसलिय तो हर साल यहाँ काफी पर्यटक पर्यटन करने के लिए आते है ! रोहतांग पास पर्यटकों की पसंदीदा जगहों में से एक है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: 1 जून से अक्टूबर तक !
  • रोहतांग दर्रे में कैसे पहुचा जाये-: एन एच् 21 शहर को चंडीगढ़ और दिल्ली से जोड़ता है यहाँ बस /टेक्सी से आ सकते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: इस पर क्लिक करे https://www.tripadvisor.in/
  • रोहतांग दर्रे मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: रोहतांग दर्रा ट्रेकर्स के लिए एक आदर्श है यहाँ के रास्ते में ग्लेशियर और चारो तरफ पानी गिरता है और यहाँ का बहुत जबरदस्त मौसम है !

47 पिन पार्वती वैली ट्रेक – एडवेंचर की सही तलाश

best tourist places in manali
पार्वती वैली

पिन पार्वती घाटी उत्तरी हिमालय क्षेत्र में सबसे सुन्दर ट्रेक में से एक है ! जो समुंदर तल से 5319 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पार्वती घाटी को कुल्लू से स्पीति की तरफ जोड़ता है ! पगडंडी हरे भरे जगलों खुले चौड़े मैदानी इलाके बेशूमार झरने और एक उच्च ऊंचाई वाली झील के माध्यम से आपको पार्वती ग्लेशियर के सामने लाती है और बहुत कम ट्रेक आपको ग्लेशियर पर चलने का मौका देते है और पिन पार्वती ट्रेक उनमे से एक है !

पिन पार्वती ट्रेक बहुत लंबा और शानदार ट्रेको में से एक है जैसे -जैसे ऊंचाई बढ़ती है वैसे -वैसे आस पास के इलाके घने जगलो घास के मैदानों और बर्फ से ढकी बदलते रंगो की चोटिया आदि से पिन पार्वती ट्रेक का दृश्य अति लुभावना लगता है इस लिए यहाँ हर साल पर्यटक भारी मात्रा में देश विदेश से पर्यटन के लिए आते है !

  • पार्वती घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जुलाई से सितम्बर !
  • पार्वती घाटी में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है! और नज़दीकी रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ वहां से कुल्लू मनाली वाली बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 269 किलोमीटर है ! और कुल्लू से पार्वती वैली 35 किलोमीटर की दुरी पर है !
  • पार्वती घाटी मे रहने के नज़दीकी स्थान-: पार्वती वैली होटल , होटल पार्वती वैली , खीरगंगा कैंपिंग कंपनी !
  • पार्वती घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग एंड हाईकिंग इन पार्वती वैली, रिवर राफ्टिंग इन पार्वती रिवर , मणिकरण साहिब , मलाणा , खीरगंगा !
best tourist places in pin parvati valley
ट्रैकिंग इन पार्वती वैली
tourism places in pin parvati valley
मलाणा
top places to visit in pin parvati valley
रिवर राफ्टिंग इन पार्वती रिवर
top tourist places in pin parvati valley
मणिकरण साहिब
places to visit in pin parvati valley
खीरगंगा
travel tour in himachal pradesh
हाईकिंग इन पार्वती वैली

48 खीरगंगा ट्रेक – पवित्र स्थान

best tourist places in kullu
खीरगंगा ट्रेक

खीरगगा ट्रेक हिमाचल प्रदेश में पर्यटकों के पसंदीदा ट्रेको में से एक है जो हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में पार्वती घाटी में भुंतर और मणिकरण के बीच लगभग 9700 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा अति सुंदर हैमलेट है ! इसे ट्रेक करने में 5 -6 घंटे लगते है कुल दूरी पैदल यात्रा की 14 किलोमीटर है !

खीरगगा में गर्म पानी के झरने और शिव भगवान के एक छोटे से मंदिर के कारण यह एक पवित्र स्थान के रुप में प्रसिद्ध है ! इसलिए ही खीरगंगा में पर्यटकों की बीड़ लगी होती है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से जून और सितम्बर से नवंबर !
  • खीरगंगा में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है दिल्ली और चंडीगढ़ से बस/टेक्सी कुल्लू के लिए ले सकते है और भुंतर से बरशैणी के लिए लोकल बस/ टेक्सी ले सकते है दुरी 48 किलोमीटर है और फिर वहा से खीरगंगा के लिए ट्रेकिंग शुरू कर सकते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: इस पर क्लिक करे https://www.booking.com
  • खीरगंगा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: कैंपिंग इन खीरगंगा , गर्म पानी के झरने , हाईकिंग इन खीरगंगा !
best places to visit in kherganga
कैंपिंग इन खीरगंगा
top tourist places in kherganga
हॉट स्प्रिंग इन खीरगंगा
best places to visit in kullu
हाईकिंग इन खीरगंगा

49 पिन वैली नेशनल पार्क पर्यटन – अपने ट्रेक के लिए सबसे प्रसिद्ध है

best places to visit in lahol spiti
पिन वैली नेशनल पार्क

पिन वैली नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश के लाहौल और स्पीति जिले में ऊंचाई 11500 फ़ीट से लगभग 600 मीटर से अधिक इसके शिखर तक है ! नेशनल पार्क अपने ट्रेक के लिए सबसे प्रसिद्ध है ! नेशनल पार्क में हिमालयी हिम तेंदुओं की दुर्लभ प्रजातियां मौजूद है ! इस वजह से भी यह पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से सितम्बर !
  • पिन वैली नेशनल पार्क में कैसे पहुचा जाये-: शिमला से टापरी , काजा से जा सकते है या फिर मनाली से रोहतांग दर्रे से होकर जा सकते है !
  • यहां रहने के नज़दीकी स्थान-: तारा हाउस होम स्टे , पिन वैली नेशनल पार्क , दा मोंक शेगो काज़ा , होटल डेज़ोर !
  • पिन वैली मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: पिन पार्वती पास , भाबा पास , मानतलाई लेक , कुंगरी गोम्पा मोनेस्टरी !
top tourist places in lahil spiti
पिन पार्वती पास
lahol spiti tourism
पिन भाबा पास
tourism places in lahol spiti
मानतलाई लेक

50 सराहन पर्यटन – मंदिर के लिए प्रसिद्ध है!

sarahan tourism
भीमा काली मंदिर

सराहन हिमाचल प्रदेश का एक छोटा सा सुंदर गांव है जो समुन्दर तल से 2100 मीटर की ऊंचाई पर सतलुज नदी घाटी और इंडो तिब्बत सड़क के पास स्थित है ! और सराहन को किन्नौर का प्रवेश द्वार माना जाता है !

यह भीमा काली मंदिर का स्थान है , जिसे मूल रूप से भीमा काली मंदिर के नाम से जाना जाता है ! सराहन मंदिर 51 शक्तिपीठो में से एक है! और राजधानी शिमला से 159 किलोमीटर दूर है ! सराहन में पथर की सलेटो से दी हुई छतो और सीढ़ीदार खेतो सेब के बगीचे और यहाँ का शांत वातावरण का अनोखा द्रष्टान्त पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है! इसके आस पास के इलाके ट्रैकिंग के लिए उपयुक्त है और यह गांव एकांत में है और इसकी आबादी बहुत कम है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जून और बर्फबारी देखने के लिए अक्टूबर से दिसंबर !
  • सराहन में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन शिमला है और शिमला से सराहन के लिए बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 159 किलोमीटर है !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल श्री खंड सराहन , होटल कृष्णा एंड कैफ़े हाउस , होटल स्नो व्यू सराहन , होटल महेश रीजेंसी !
  • सराहन मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: भीमा काली मंदिर , बर्ड पार्क सराहन , भाबा वैली !
top places to visit in sarahan
भीमा काली मंदिर
best tourist places in sarahan
बर्ड पार्क सराहन
best travel places in sarahan
भाबा वैली

51 तोश पर्यटन – अपने कैनेबिस वृक्षा रोपण के लिए प्रसिद्ध है!

top places to visit in tosh
तोश

तोश गांव हिमाचल प्रदेश राज्य के कुल्लू जिले में पहाड़ो से घिरे पार्वती घाटी में कसोल के पास एक पहाड़ी पर लगभग 7900 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! यहाँ लोगो का मुख्य व्यवसाय पर्यटन है सेब के बाग भी स्थानीय लोगो के लिए आय का एक बड़ा स्तोत्र है !

तोश अपने केनीबस बृक्षारोपण के लिए प्रसिद्ध है ! यह स्थान पार्वती घाटी के दूर के छोर पर स्थित आधुनिकरण और तेज गति वाले जीवन से अछूता है ! यह स्थान अकसर अन्य देशो के पर्यटकों द्वारा रोमांचित होता है! और आप उनके साथ बात कर सकते है और स्थानीय भोजनालय में उनके साथ भोजन का अनुभव कर सकते है ! इस जगह में जियादातर विदेशी पर्यटक नज़र आते है तोश ट्रैकिंग के लिए काफी प्रसिद्ध है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर और बर्फ़बारी का मनोरंजन लेने के लिए नवंबर से फेब्रुअरी !
  • तोश कैसे पहुचा जाये-: आप दिल्ली चंडीगढ़ से कुल्लू मनाली वाली बस ले फिर भुंतर में उतर जाये जो कुल्लू से 9 किलोमीटर पहले है फिर वहा से बरशानि के लिए लोकल बस ले दुरी 48 किलोमीटर है फिर वहा से आप ट्रेकिंग शुरू कर सकते है !
  • यहाँ पर रहने के नज़दीकी स्थान-: थर्ड आई गेस्टहॉउस एंड कैफ़े तोश , व्हूपर्स हॉस्टल तोश , सनराइज गेस्टहॉउस तोश , स्टोनएडऐज कैफ़े एंड इन् तोश !
  • तोश मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग इन तोश , जमदगिनी ऋषि मंदिर , टेम्पल ऑफ़ बर्षेनी हिन्दू मंदिर , खीरगंगा ट्रेक !

best tourist places in tosh
ट्रेकिंग इन तोश
tourism places in tosh
जमदगिनी ऋषि मंदिर
places to visit in tosh
खीरगंगा

52 ट्रैकिंग इन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क – प्रकृति और ट्रेक पथ के लिए प्रसिद्ध है!

lahol spiti tourism
ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क भारत के राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है ! जो हिमाचल प्रदेश राज्य में कुल्लू क्षेत्र में 1500 से 6000 मीटर की ऊंचाई पर 1171 किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है ! ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क प्रकृति प्रेमिओ के लिए एक बरदान है ! हरे भरे जगलो से लेकर खिलते फूलो और ट्रेकिंग के लिए व्यवस्तिथ जगह है ! यहाँ हर साल पर्यटक भारी मात्रा में पर्यटन के लिए आते है !

  • ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जून और मिड सितम्बर से नवंबर !
  • ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में कैसे पहुचा जाये-: दिल्ली से पठानकोट रेलवे स्टेशन के लिए ट्रैन लो और फिर कुल्लू के लिए बस लो दुरी 274 किलोमीटर वाया रोड फिर कुल्लू से लोकल बस /टेक्सी ले सकते है दुरी 40 किलोमीटर है ! दूसरा रास्ता चंडीगढ़ से बिलासपुर मंडी से ओट तक बस से पहुंचा जा सकता है !
  • ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क मे रहने के नज़दीकी स्थान-: जे जे बाय विवान रिसोर्ट , संध्या कुल्लू होटल , दा तारा विल्ला होटल , एस जे रिसोर्ट !
  • ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग इन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क !

53 पराशर लेक ट्रेक पर्यटन – गहरे नीले पानी के लिए प्रसिद्ध है!

kangra tourism
पराशर लेक ट्रेक

पराशर लेक ट्रेक कुल्लू घाटी में धौलाधार पर्वत माला से घिरा 2730 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! यह स्थान रहस्यवादी और आकर्षण से भरा हुआ है और तेज़ी से बहने वाली नदी बियास में निचे दिखता है ! पराशर लेक ट्रेक के आस पास हरी भरी घाटिया नदी और झीलों का अनोखा संगम है ! इस झील में एक अस्थायी द्वीप है! इसकी वास्तविक गहराई मापी नहीं गई है ! पराशर लेक ट्रेक नीले पानी के लिए प्रसिद्ध है ! यह ट्रेक मंडी से 52 किलोमीटर दूर उतर में स्थित है और यहाँ पर्यटन करने भारी मात्रा में हर साल पर्यटक आते है!

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से सितम्बर बर्फ देखने के लिए दिसंबर से मार्च !
  • पराशर लेक ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: मंडी से लोकल बस में बागी जाओ दुरी 26 किलोमीटर है वहा से पराशर लेक ट्रेक शुरू हो जाता है !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: मीडोज कैम्प्स पराशर लेक , प्रेशर लेक कृष्णा कैंप , माशू रिसोर्ट , ज़ॉस्टल होम्स पाह नाला !
  • पराशर लेक ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग इस साइट पैर क्लिक करे https://www.tripadvisor.in/

54 इंद्रहार पास ट्रेक पर्यटन – आसान ट्रेक के लिए प्रसिद्ध है!

tourism hindi blog
इन्द्रहार पास ट्रेक

इन्द्रहार दर्रा हिमाचल प्रदेश के पर्यटन शहर धर्मशाला के पास हिमालय की धौलाधार श्रेणी में एक पहाड़ी दर्रा है जो समुन्दर तल से 14245 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! इंद्रहार दर्रा काँगड़ा और चम्बा जिलों के बीच की सीमा बनाता है !

इंद्रहार दर्रा ट्रकिंग के समय वह जगमगाती धाराएं गहरी घटिया , शांत झीले और देवदार के जगल ये भारतीय हिमलाय क्षेत्र में सबसे आसान ट्रेक है और सभी पर्यटकों के मन को भा जाता है ! ये ट्रेक लहेश और त्रिउंड गुफावो को कवर करते हुए झीलों को भी कवर करता है ये ट्रेक पर्यटको के पसदीदा ट्रेको में से एक है !

  • पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर तक !
  • इंद्रहार दर्रे ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ है फिर बस /टेक्सी ले सकते है मैक्लॉडगंज के लिए दुरी लगभग 255 किलोमीटर और मैक्लॉडगज से इंद्रहार दर्रे की 100 किलोमीटर की यात्रा शुरू हो जाती है !
  • यहाँ रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल के लिए इस साइट पैर क्लिक करे https://www.tripadvisor.in/
  • इंद्रहार दर्रे ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग एंड कैंपिंग !

55 फ्रेंडशिप पिक – ट्रेकिंग शिखर के रूप में प्रसिद्ध है!

tour and travel in himachal
फ्रेंडशिप पीक

फ्रेंडशिप पीक हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में पीर पंजाल रेंज में स्थित एक राजसी पहाड़ है ! देश में ट्रेकिंग के लिए मैत्री शिखर सबसे प्रसिद्ध शिखर है ! जो समुन्दर तल से 17348 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है !

फ्रेंड शिप चोटी तक पहुंचने का आदर्श मार्ग धुंडी और बियास कुंड से होकर जाता है ! इस मार्ग का ट्रेक सुन्दर अल्पाइन घास के मैदानों और घने जगलो से होकर गुजरता है ! और कई नदियों को पार करना पड़ता है ! फ्रेंड शिप चोटी पर्यटकों में ट्रैकिंग के लिए बहुत लोकप्रिय है इसलिए यहाँ देश विदेश से पर्यटक हर साल पर्यटन के लिए आते है !

  • इस चोटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से अक्टूबर तक !
  • फ्रेंड शिप चोटी में कैसे पहुचा जाये-: दिल्ली से कालका के लिए 7:40 में सुबह शताब्दी एक्सप्रेस ट्रैन ले जो सुबह 11 :45 बजे कालका पहुँचती है और फिर कालका से मनाली के लिए लगातार बसे है ! और मनाली से सोलंग के लिए टेक्सी ले सकते है ! सड़क मार्ग दिल्ली से मनाली तक 564 किलोमीटर है और फिर मनाली से सोलंग के लिए टेक्सी ले सकते है !
  • फ्रेंड शिप चोटी में रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल के लिए इस साइट पर क्लिक करे https://www.ixigo.com/
  • फ्रेंड शिप चोटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग , हिडिमा मंदिर इन मनाली , हॉटस्प्रिंग वाटर ऑफ़ वशिष्ट , नाग्गर रोएरिच आर्ट गैलरी !

56 सर पास ट्रैक – नए लोगो के लिए ट्रेक गतव्य के लिए प्रसिद्ध है!

himachal tour and travel places
सर पास ट्रेक

सर दर्रा हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के पार्वती घाटी में 14000 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! यह ट्रेक कसोल से शुरू होता है ! सर दर्रे में ट्रेकिंग करते समय , टीला लोटनी से बिस्केरी रिज तक के मार्ग के पार ,एक छोटी जमी हुई झील (सर) से गुजरना पड़ता है और इसलिए इसका नाम सर पास ट्रेक पड़ा ! यह घाटी बर्फ से ढके पहाड़ो बारहमासी धाराओं , झरनो और हरे भरे जगलो से घिरी हुई है ! सर दर्रा नए लोगो /पर्यटकों के ट्रेकिंग के लिए प्रसिद्ध है ! सर दर्रा ट्रेक का असली आनंद 100 फ़ीट लंबी बर्फ की स्लाइड है ! सर दर्रे पर ट्रेकिंग करने भारी सख्या में पर्यटक हर साल पर्यटन के लिए आते है !

  • सर दर्रे में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई और जुलाई का समय सबसे अच्छा है ट्रैकिंग के लिए सर दर्रे पर !
  • सर दर्रे में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है भुंतर से कसोल के लिए बस टैक्सी ले सकते है दुरी 31 किलोमीटर है ! वाया रोड दिल्ली चंडीगढ़ से कुल्लू मनाली की बस लेना और फिर भुंतर में उतर जाना और भुंतर से कसोल के लिए बस /टेक्सी ले सकते है और कसोल से सर पास ट्रेक शुरू हो जाता है !
  • सर दर्रे में रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल संध्या कसोल , ठाकुर कॉटेज होमस्टे , दा रेनबो इन् , दा होस्टलर कसोल!
  • सर दर्रे मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग के लिए सबसे बड़ीआ !

57 भृगु लेक – कई गलेशियर झीलों के लिए प्रसिद्ध है!

bhrigu lake in kullu
भृगु लेक

भृगु झील हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में लगभग 14100 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित एक झील है ! ये रोहतांग दर्रे के पूर्व में स्थित है ! और मनाली से लगभग 40 किलोमीटर दूर स्थित है !और इसका नाम महृषि भृगु के नाम पर रखा गया है ! भृगु कई ग्लेशियर झीलों के लिए प्रसिद्ध है !

झील का रास्ता घास के मैदानों से होकर गुजरता है ! जिसे भृगु झील मीडोज भी कहा जाता है ! यह झील गुलाबा गांव से 6 किलोमीटर दूर है ! झील सर्दियों में पूरी तरह से कभी नहीं जमती है क्योकि महृषि भृगु ने इसके पास ध्यान लगाया था ! पर्यटक भृगु झील के पास शिविर लगा सकते है और झील में ट्रेकिंग करते हुए परिवार के साथ समय बिता सकते है !भृगु झील ट्रेक पर्यटकों का पसदीदा ट्रेको में से एक है !

  • भृगु झील में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर तक !
  • भृगु झील में कैसे पहुचा जाये-: मनाली से गुलाबा के लिए टेक्सी ले सकते है दुरी 24 किलोमीटर है वहा से भृगु लेक ट्रेक शुरू हो जाता है !
  • भृगु झील में रहने के नज़दीकी स्थान-: माउंटेन स्टोरीज मनाली , ज़ॉस्टल , योलो बैकपैकर्स मनाली , होटल रिलैक्स ओल्ड मनाली , नोमेडिक नेस्ट मनाली !
  • भृगु झील मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: विजिट अल्पाइन लेक , ट्रेकिंग इन भृगु लेक !

58 त्रिउंड पर्यटन – आसान ट्रेकिंग के लिए प्रसिद्ध है

best travel places in kangra
त्रिउंड

त्रिउंड भारत देश के हिमाचल प्रदेश में एक सुन्दर सा हिल स्टेशन है जो काँगड़ा जिले में स्थित है ! त्रिउंड धर्मकोट का एक हिस्सा है ! त्रिउंड धौलाधार पर्वत माला के तल पर है जो 2828 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! त्रिउंड हिमाचल प्रदेश का सबसे आसान ट्रेक माना जाता है ! लेकिन त्रिउंड के चारो और एक खड़ी चढाई है ! त्रिउंड में पर्यटक काफी पर्यटन के लिए आते है !

  • त्रिउंड में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से जून और सितम्बर से अक्टूबर !
  • त्रिउंड में कैसे पहुचा जाये-: पठानकोट नज़दीकी रेलवे स्टेशन है जो मक्लॉडगंज से 91 किलोमीटर दूर है !और मक्लॉडगंज से त्रिउंड 6 किलोमीटर दूर है वाया रोड ! दिल्ली से मक्लॉडगंज के लिए बस से आ सकते है दुरी 491 किलोमीटर है !
  • त्रिउंड में रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल त्रिउंड , ज़ॉस्टल , शालोम बैकपैकर्स मक्लॉडगंज , वाइट वाटर इन् मक्लॉडगंज !
  • त्रिउंड मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: मुख्यत ट्रेकिंग !

59 किन्नौर कैलाश पर्यटन – बर्फ से ढकी चोटियों के लिए प्रसिद्ध है!

best tourism places in kinnaur
किन्नौर कैलाश

किन्नौर कैलाश हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में एक पर्वत है ! किन्नौर कैलाश की ऊंचाई 6050 मीटर है ! इसे हिन्दू और बोद्ध किनौरियो दोनों द्वारा पवित्र माना जाता है ! किन्नौर कैलाश बर्फ से ढकी चोटियों के लिए प्रसिद्ध है !किनौर को जादवी और कल्पनाओ की भूमि माना जाता है ! जिसमे हरी भरी घाटिया बर्फ से ढकी चोटिया और ठंडे रेगिस्तानी पहाड़ है ! किनौर कैलाश हरे भरे शानदार इलाके के लिए प्रसिद्ध है ! यहाँ काफी पर्यटक पर्यटन के लिए आते है !

  • किनौर कैलाश में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से जून !
  • किनौर कैलाश में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन कालका है वहा से शिमला के लिए बस ले सकते है और फिर रामपुर के लिए फिर रिकांगपियो के लिए और वहा से कल्पा के लिए और कल्पा से थग्गी तक टेक्सी ले सकते है !
  • किनौर कैलाश में रहने के नज़दीकी स्थान-: ज़ॉस्टल , भंडारी होमस्टे , लेक व्यू रिसोर्ट किन्नौर , दा वांडरर्स नेस्ट !
  • किनौर कैलाश मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रैकिंग , ट्राउट फिशिंग इन बास्पा रिवर , रॉक क्लाइम्बिंग , टूरिंग मोनेस्टरी एंड टेम्पल्स !

60 जालोरी पास पर्यटन – प्राकृतिक द्रश्यों के लिए प्रसिद्ध है

top tourism places in jalori pass
जालोरी पास

जालोरी दर्रा उच्च पर्वत दर्रा है जो हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में है ! जो लगभग 10000 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! जालोरी दर्रा कुल्लू में लगभग 150 किलोमीटर दूर स्थित है ! जालोरी दर्रे क्षेत्र में मौसमी फूल खिलते है जो हर ट्रकर्स के होश उड़ा देते है ! जालोरी दर्रे पर ट्रेकिंग पर्यटकों को सेरोलसर झील , शोजा , सकिरन , लाम्ब्री और ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क जैसी शानदार जगहों पर ले जाती है !

जालोरी दर्रे ट्रेक में कई मंदिर मार्ग भी है जैसे लाम्ब्री में महाकाली मंदिर , जालोरी दर्रे में जालोरी माता मंदिर , सेरोलसर झील में बुरी नागन का मंदिर अदि इस ट्रेक को आदर्श बनाते है ! जालोरी दर्रा ट्रेक पर्यटकों को अत्यधिक उत्साह और संतुष्टि प्रदान करता है ! जालोरी दर्रे ट्रेक में पर्यटक जून से अक्टूबर तक ही पर्यटन कर सकते है सर्दियों में भारी बर्फबारी के कारण ये दर्रा पर्यटन के लिए बंद हो जाता है यहाँ पर्यटक हर साल भारी मात्रा में पर्यटन के लिए आते है !

  • जालोरी दर्रे में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से अक्टूबर तक !
  • जालोरी दर्रे में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है ! और नज़दीकी रेलवे स्टेशन शिमला है शिमला से कुल्लू के लिए बस /टैक्सी ले सकते है दुरी 210 किलोमीटर है !
  • जालोरी दर्रे में रहने के नज़दीकी स्थान-: वे वार्ड इन् , ट्री हाउस हॉस्टल , ग्रेट हिमालयन एडवेंचर , मड हाउस हॉस्टलस बाय एक्सपेरिमेंटल लिविंग प्रोजेक्ट !
  • जालोरी दर्रे मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: जालोरी पास , ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क , सेरोलसर लेक , रघुपुर फोर्ट ट्रेक , श्रिंगा ऋषि मंदिर , चैनी कोठी !
best tourist places in jalori pass
जालोरी पास
tourism places in himachal pradesh
श्रिंगा ऋषि मंदिर
tourism places in jalori pass
सेरोलसर लेक
best tourist places in jalori pass
चैनी कोठी
tourist places in himachal
रघुपुर फोर्ट ट्रेक
best travel places in himachal
ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

61 चंद्रताल बारालाचा ट्रेक – उच्च ऊंचाई वाली झीलों के लिए प्रसिद्ध है जो हिमालय क्षेत्र मै है!

kinnaur tourism
चंद्रताल बारालाचा

चंद्रताल बारालाचा ट्रेक चंद्रताल झील एक वर्धमान आकर की अल्पाइन झील है ! जिसे स्पीति घाटी में बसाया गया है , जो हिमाचल प्रदेश में गढ़वाल हिमालय की चंद्रभागा रेंज की राजसी बर्फ से ढकी चोटियों से घिरा है !

चंद्रताल बारालाचा ट्रेक 13940 फ़ीट ऊंचाई का है ! यह मनाली से पुरे दिन का ट्रेक है ! चंद्रताल बारालाचा आसान ट्रेक है इसलिए पर्यटक इस ट्रेक को जियादा पसंद करते है ! चन्द्रताल बारालाचा ट्रेक में कई शानदार नदिया , घास के मैदान और विदेशी वन्य जीवो का और बारालाचा ट्रेक पर सूर्यास्त का सबसे सुन्दर दृश्य इस ट्रेक में चारचांद लगा देता है ! यहाँ हर साल काफी पर्यटक पर्यटन के लिए आते है और अद्भुत प्रकृति का लुत्फ़ उठाते है !

  • चंद्रताल बारालाचा ट्रेक में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से अक्टूबर !
  • चंद्रताल बारालाचा ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा भुंतर है दिल्ली चंडीगढ़ शिमला से मनाली के लिए बस ले फिर मनाली से केलोंग के लिए बस/ टैक्सी ले सकते है दुरी 117 किलोमीटर है और फिर बॉटल आता है जो केलोंग से थोड़ी दुरी पर है वहा से चंद्रताल बारालाचा ट्रेक शुरू हो जाता है ! जो केवल 5 -6 घंटे का ट्रेक है !
  • चंद्रताल बारालाचा ट्रेक में रहने के नज़दीकी स्थान-:दा नोमादास कॉटेज , जमैका कैम्प्स !
  • चंद्रताल बारालाचा ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: चंद्रताल लेक , कुंजुम पास , हडिम्बा देवी मंदिर !
tourist places in himachal
चंद्रताल लेक
top places to visit in chandratal baralacha
कुंजुम पास
tourism places in himachal pradesh
हिडिम्बा मंदिर

62 बड़ा भंगाल ट्रेक – शेफर्ड ट्रेल ट्रेक के लिए प्रसिद्ध है!

tourist places in bara bhangal
बड़ा भंगाल

बड़ा भंगाल ट्रेक की यात्रा एक दिन से अधिक की है ! और यह यात्रा 2050 मीटर से 5000 मीटर की ऊंचाई तक जाती है और जो मनाली से दूर काँगड़ा घाटी के लिए शुरू होती है ! यह एक पुराने चरवाहे का निशान है जो कई पहाड़ो, नदियों , घने जगलो बर्फ के खेतो से लेकर ऊचे दर्रे तक जाता है ! यह ट्रेक बिलिंग पर समाप्त होता है जो पैराग्लाइडिंग के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है ! बड़ा भंगाल में हर साल काफी पर्यटक आते है !

  • बड़ा भंगाल में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से सितम्बर!
  • बड़ा भंगाल में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन कालका है वहां से मनाली के लिए बस ले सकते है दुरी 285 किलोमीटर है !
  • बड़ा भंगाल में रहने के नज़दीकी स्थान-: सदयाल होटल एंड रेस्टोरेंट , होटल सुभागमन बरोट , अंकुश होटल !
  • बड़ा भंगाल मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग एंड कैंपिंग !

63 पिन भाबा पास ट्रेक पर्यटन – चनौती पूर्ण ट्रेक के लिए प्रसिद्ध है!

tourist places in kinnaur
पिन भाबा पास ट्रेक

पिन भाबा पास ट्रेक हिमालय में सबसे मुश्किल और सुन्दर ट्रेको में से एक है ! पिन भाबा पास घने जगलो और हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के चरवाह मार्ग और स्पीति में स्टार्क पिन घाटी के 16125 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! पिन भाबा पास ट्रेक चुनौती पूर्ण ट्रेक के लिए प्रसिद्ध है !

पिन भाबा पास ट्रेक कफनु गांव से शुरू होता है और इसकी यात्रा शुरू हरयाली से होती है और ख़त्म स्पीति की बंजर भूमि से जैसे आप यात्रा आरम्भ करते है तो आप घने जगलो और सेब के बगीचों और अनेक झरनो से होकर गुजरते है ! पिन भाबा पास ट्रेक को भाबा नदी , मठ और चंद्रताल झील के बगल में लगते शिविर इस ट्रेक को और भी मज़ेदार बनाते है ! और जो पर्यटक लम्बी पैदल यात्रा करने के इच्छुक होते है उन पर्यटकों के लिए पिन भाबा पास ट्रेक बहुत अच्छा है ! यहाँ काफी पर्यटक हर साल पर्यटन करने आते है !

  • पिन भाबा पास ट्रेक में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर लेकिन अच्छा समय ट्रेकिंग का मोनसून सीजन के बाद ही है !
  • पिन भाबा पास ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन कालका है वहा से शिमला के लिए बस ले और फिर शिमला से कफनु के लिए बस /टैक्सी ले सकते है दुरी 208 किलोमीटर है ! काफनू पिन भाबा पास ट्रेक का बेस कैंप है !
  • पिन भाबा पास ट्रेक में रहने के नज़दीकी स्थान-: ओयो 63425 लेक व्यू रिसोर्ट , तारा हाउस होमस्टे !
  • पिन भाबा पास ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग !

64 हैम्पटा पास ट्रेक पर्यटन – घने देवदार के जगलो के लिए प्रसिद्ध है!

spiti tourism
हैम्पटा पास ट्रेक

हैम्पटा दर्रा हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के मनाली क्षेत्र में 14039 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! हैम्पटा दर्रा ट्रेक आपको कुल्लू की हरी भरी घाटी से लेकर लाहौल घाटी के रेगिस्तान तक ले जाता है ! यह ट्रेक मनाली के पास सबसे प्रसिद्ध ट्रेको में से एक है ! हैम्पटा दर्रा घने देवदार के जगलो के लिए प्रसिद्ध है !हैम्पटा दर्रे ट्रेक का मुख्य आकर्षण ऊंचाई पर स्थित चंद्रताल लेक है ! हैम्पटा पास ट्रेक घने जगलो और घास के विशाल मैदानों से होकर गुजरता है ! हैम्पटा दर्रे ट्रेक की यात्रा 3 -4 दिनों की है ! हैम्पटा पास दर्रे में पर्यटन करने के लिए बहुत सारे पयटक हर साल आते है !

  • हैम्पटा दर्रा ट्रेक में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से अक्टूबर !
  • हैम्पटा दर्रा ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: मनाली के लिए आओ और वहा से टैक्सी लेकर जोब्रा जाओ दुरी 18 किलोमीटर है और वहा से ट्रेक शुरू हो जाता है !
  • हैम्पटा दर्रा ट्रेक में रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल दा एलेना , हैम्पटन होम , सन फेस होमस्टे !
  • हैम्पटा दर्रा ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: चंद्रताल लेक , ट्रैकिंग , वाटरफॉल्स !

65 देओ टिब्बा ट्रेक पर्यटन – अदभुत दिखने के लिए प्रसिद्ध है!

top tourist places in manali
देओ टिब्बा

देओ टिब्बा ट्रेक मनाली क्षेत्र में 14698 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! देओ टिब्बा ट्रेक को छोटा चंद्रताल ट्रेक के रूप में भी जाना जाता है ! देओ टिब्बा ट्रेक के रास्ते में घने जगल , बर्फीली चोटिया , घास के मैदान और झीले भी देखने को नज़र आती है ! देवो टिब्बा ट्रेक अदबुध दिखने के लिए प्रसिद्ध है ! देओ टिब्बा मनाली के ट्रेक का शुरुआती स्थान है ! मनाली में जो भी पर्यटक आते है वह देओ टिब्बा ट्रेक का आनंद लेते है !

  • देओ टिब्बा ट्रेक में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जून से सितम्बर तक !
  • देओ टिब्बा ट्रेक में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन शिमला है और शिमला से मनाली के लिए बस सेवा उपलब्ध है और मनाली देओ टिब्बा ट्रेक का बेस कैंप है !
  • देओ टिब्बा ट्रेक में रहने के नज़दीकी स्थान-: ज़ॉस्टल , योलो बैकपैकर्स मनाली , नोमेडिक नेस्ट मनाली , माउंटेन स्टोरीज मनाली !
  • देओ टिब्बा ट्रेक मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: गायत्री मंदिर , भृगु लेक , जगतसुख , वशिष्ट बाथ्स , वन विहार मनाली , अर्जुन गुफा , गुलाबा , मलाणा !
places to visit in manali
गायत्री मंदिर
tour and travel in manali
वशिष्ट बाथ्स
tourism in manali
भृगु लेक
travel places in himachal pradesh
अर्जुन गुफा

66 ठेऊग पर्यटन – कम बीड़ वाला शहर आकर्षण के लिए प्रसिद्ध है!

best places in theog
ठेऊग

ठेऊग एक छोटा हिल स्टेशन है जो समुंदर तल से 6446 फ़ीट की ऊंचाई पर राष्ट्रीय राजमार्ग एन एच 22 पर स्थित है ! ठेऊग हिल स्टेशन शिमला से 30 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है ! इस छोटे से हिल स्टेशन में पांच घाट है रही घाट , देवरी घाट , प्रेम घाट , जनोग घाट , और बाग घाट अदि !

ठेऊग एक ऐसा छोटा हिल स्टेशन है जो चारो और से हिमालय की गोद में लिपटा हुआ है ! इस हिल स्टेशन में कम बीड होती है पर्यटक ऐसे हिल स्टेशन को जियादा पसंद करते है ! ये मुख्यत कम बीड वाले शहर के रूप में प्रसिद्ध है ! शिमला से नज़दीक होने के कारण भी इस शहर में पर्यटकों के आने में बढ़ोतरी हुई है !

  • ठेऊग में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो में कभी भी पर्यटन कर सकते है !
  • ठेऊग में कैसे पहुचा जाये-: शिमला से बस /टैक्सी ले सकते है दुरी 30 किलोमीटर है !
  • ठेऊग में रहने के नज़दीकी स्थान-: ताज ठेऊग रिसोर्ट एंड स्पा शिमला , डी एक्सोटिका क्रेस्ट रिसोर्ट एंड स्पा , वुड विस्टा नेचर कॉटेजेस , डाफी हाउस !
  • ठेऊग मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग !

67 कंगोजोड़ि पर्यटन – ट्रेकिंग के लिए प्रसिद्ध

himachal pradesh tourism
कंगोजोड़ि

कंगोजोड़ि नाहन शिमला राजमार्ग पर नाहन से 33 किलोमीटर आगे और समुन्दर तल से 2687 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! कंगोजोड़ि एक शांत पर्यटन स्थल है जो ट्रेकिंग के लिए बहुत लोकप्रिय है ! यहाँ पर्यटक जियादातर ट्रेकिंग करने ही आते है ये स्थान देवदार के पेड़ो और खानो से भरा हुआ है ! कंगोजोड़ि में एक रोक्क्स कैंप है जिसके चारो और चीड़ के पेड़ है यह भी बहुत अच्छा स्थान है पर्यटको के लिए !

  • कंगोजोड़ि में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • कंगोजोड़ि में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन सोलन है और सोलन से नाहन के लिए बस ले सकते है दुरी 87 किलोमीटर है और फिर नाहन से कंगोजोड़ि के लिए टैक्सी ले सकते है दुरी 33 किलोमीटर है !
  • कंगोजोड़ि में रहने के नज़दीकी स्थान-: कैंप रोक्क्स एडवेंचर कैंप , होटल एच् वी , होटल हेरिटेज संयम !
  • कंगोजोड़ि मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग , रेणुका लेक , परशुराम ताल एंड रेणुका मंदिर , रेणुका ज़ू !
himachal tourist places
रेणुका ज़ू
himachal tour and travel
रेणुका मंदिर
best tourist places in sirmour
रेणुका लेक

68 चांशल वैली पर्यटन – ताज़ा सुंदर गत्तव्य के लिए प्रसिद्ध

top tourist places in shimla
चांशल घाटी

चांशल घाटी शिमला से 180 किलोमीटर दूर और समुन्दर तल से 14830 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! ये हिल स्टेशन शिमला में सबसे ऊंचाई पर स्थित है ! चांशल एक ऐसी पर्वत शृंखला है जो रोहड़ू क्षेत्र से डोडरा कवार घाटी को काटती है ! ये घाटी प्रदुषण और शहर की दौड़ भाग से दूर स्थित है यहाँ पर्यटक परिवार के साथ छुटियो का आनंद ले सकते है ! यह घाटी पर्यटकों के पर्यटन के लिए सही जगह है चारो और के लुभावने दृश्य मन को मोह लेते है ! वर्तमान समय में चांशल घाटी पर्यटकों का पसंदीदा पर्यटन स्थल बन चूका है ! और यहाँ काफी पर्यटक आते है और प्रकृति का खूब आनंद लेते है !

  • चांशल घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मई से अक्टूबर !
  • चांशल घाटी में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन शिमला है फिर शिमला से रोहड़ू के लिए बस ले दुरी 109 किलोमीटर है और फिर टेक्सी ले चांशल वैली के लिए !
  • चांशल घाटी में रहने के नज़दीकी स्थान-: थिरा चांशल , चांशल नेचर कैम्प्स , पब्बर रिवर कॉटेज!
  • चांशल घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग , बाइकिंग , फोटोग्राफी , कैंपिंग !

69 फागु पर्यटन – बर्फ और कोहरे के लिए प्रसिद्ध

shimla tourism
फागू

फागू शिमला में हिंदुस्तान तिब्बत रोड पर लगभग 2500 मीटर की ऊंचाई पर एक छोटा सा हिल स्टेशन है ! फागू शिमला से 18 किलोमीटर दूर स्थित है ! फागू ऊंचाई पर होने के कारण ये लगभग हमेशा ही कोहरे से ढका रहता ऐसा लगता है मानो आप बादलो पर चल रहे हो ! फागू में देवदार के जगल और सेब के बगीचे और हरे भरे खेत दिखाई देते है फागू बहुत सकून की जगह है ! यहाँ स्कीइंग भी की जाती है !

  • फागू में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अक्टूबर से अप्रैल !
  • फागू में कैसे पहुचा जाये-: शिमला से बस /टैक्सी ले सकते है दुरी 18 किलोमीटर है !
  • फागू में रहने के नज़दीकी स्थान-: दा टिकर , महासू हाउस , वुड विस्टा कॉटेजेस शिमला !
  • फागू मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग एंड स्कीइंग !

70 बड़ोग पर्यटन – औपनिवेशिक इतिहास और प्रचीन मिथक के लिए प्रसिद्ध

best tourist places in barog
बड़ोग

बड़ोग हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले का एक छोटा सा हिल स्टेशन है जो समुंदर तल से 1860 मीटर की ऊंचाई पर यूनेस्को की विश्व धरोवर स्थल कालका शिमला रेलवे पर स्थित है ! बड़ोग ओपनिवेशिक इतिहास और प्राचीन मिथक के लिए प्रसिद्ध है !

हरे भरे पहाड़ो में बसा बड़ोग चंडीगढ़ से केवल 60 किलोमीटर दूर है ! 20 वी शताब्दी के शुरुआत में जब कालका शिमला रेलवे का निर्माण हो रहा था उस के दौरान बड़ोग को बसाया गया था ! बड़ोग की प्राकृतिक सोन्दर्ये और हरे भरी वादियों के कारण ही ये हिल स्टेशन पर्यटकों का पसंदीदा पर्यटन स्थान है ! यहाँ काफी पर्यटक पर्यटन के लिए आते है !

  • बड़ोग में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: साल के 12 महीनो में कभी भी प्रर्यटन कर सकते है !
  • बड़ोग में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ है वहा से शिमला आने वाली कोई भी बस ले सकते है बड़ोग के लिए दुरी 60 किलोमीटर है !
  • बड़ोग में रहने के नज़दीकी स्थान-: वैली व्यू बड़ोग , दा पाइनवुड बड़ोग , होटल बड़ोग हाइट्स , मेराकी होलीडे होम्स !
  • बड़ोग मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: पाइन हिल्स इको कैंप कैंपिंग , जटोली शिव मंदिर , करोल टिब्बा ट्रेक !
best tourist places in barog
जटोली शिव मंदिर
tourist places in barog
करोल टिब्बा ट्रेक
himachal tourism
पाइन हिल्स इको कैंप कैंपिंग

71 सिरमौर पर्यटन – सुंदर प्रकृति के लिए प्रसिद्ध है!

best places to visit in sirmour
सिरमौर

सिरमौर, हिमाचल प्रदेश में उत्तरी भारत का सबसे दक्षिणी जिला है ! यह जिला काफी हद तक पहाड़ी और ग्रामीण है ,इस जिले की 90 परसेंट आबादी गांव में रहती है ! सिरमौर जिले की स्थापना 1090 में जैसलमेर के राजा रसालू द्वारा की गई थी ! और रसालू के एक पूर्वज का नाम सिरमौर था इसके कारण ही यहाँ का नाम सिरमौर पड़ा ! सिरमौर जिले में पर्यटकों के पर्यटन के लिए बहुत स्थान है !

  • सिरमौर में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • सिरमौर में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी एयरपोर्ट चंडीगढ़ और देहरादून फिर बस ले सकते हो चंडीगढ़ से 121 किलोमीटर है और देहरादून से 84 किलोमीटर दूर है !
  • सिरमौर में रहने के नज़दीकी स्थान-: दा सिरमौर रिट्रीट , ग्रैंड व्यू रिसोर्ट , होटल ग्रैंड रिवेरा , होटल रॉकवुड बेस्ट होटल इन पौंटा साहिब !
  • सिरमौर मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: नाहन , पौंटा साहिब , चूरधार , हरिपुरधार , रेणुका जी , काला अम्ब , राजगढ़ , त्रिलोकपुर , शिलाई , नोहराधार , धौला कुआ , कलेसर वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी आदि प्रमुख स्थान है !
travel places in sirmour
रानी ताल नाहन
top places to visit in sirmour
रेणुका लेक
best tourist places in sirmour
हरिपुरधार
best tourism places in sirmour
चूडधार
sirmour tourism
पौंटा साहिब
tour and travel sirmour
शिलाई

72 जीभी पर्यटन – हरे भरे जगल के लिए प्रसिद्ध है!

top places to visit in kullu
जीभी

जीभी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले की बंजार घाटी के बीच में एक छोटा सा प्रसिद्ध गांव है ! जो समुन्दर तल से 5250 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! जीभी अपने हरे भरे जगलों के लिए काफी प्रसिद्ध है और ऐसा कौन पर्यटक नहीं चाहेगा की वह अपनी छुटिया ठंडी हवा और हरियाली के बीच और अपने मन को शांति प्रदान करने वाले स्थान पर बिताए

जीभी इसके लिए उत्तम स्थान है चारों और हरे भरे जगल रंग बिरंगे पक्षियों की चहक चारो और भरपूर हरियाली और ये लुभावनी प्रकृति के अदभुत दृश्य मन को परम सुख पहुंचाते है ! इसलिए पर्यटकों को पर्यटन के लिए परिवार के साथ जीभी आना चाहिए और पर्यटन का भरपूर लुत्फ़ उठाना चाहिए !

  • जीभी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से अक्टूबर !
  • जीभी में कैसे पहुचा जाये-: बस से जीभी की यात्रा आसान है दिल्ली चंडीगढ़ से मनाली जाने वाली बस ले सकते है और दिल्ली मनाली हाइवे पर ओट स्टेशन पर उतर जाए और वहा से टैक्सी ले सकते है वहा से लगभग 2 घंटे का सफर है जीभी के लिए !
  • जीभी में रहने के नज़दीकी स्थान-: दा हॉस्टलगीक जीभी , दा मिस्टी विल्ड्स जीभी , ग्रेट हिमालयन एडवेंचर , मड हाउस हॉस्टल बाय एक्सपेरिमेंटल लिविंग प्रोजेक्ट !
  • जीभी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: जालोरी पास , चैनी कोठी , सरुवालसर एंड मणिमहेश लेक , जीभी वाटर फॉल , रघुपुर फोर्ट , श्रिंगा ऋषि मंदिर , छोये वाटर फॉल , तीर्थन हिमालयन एडवेंचर !
kullu tourism
जालोरी पास
tourism blog in hindi himachal pradesh
जीभी वाटर फॉल
best places to visit in jibhi
चैनी कोठी
hindi tourism blog
श्रिंगा ऋषि मंदिर
best tourist places in jibhi
सरुवालसर एंड मणिमहेश लेक
himachal hindi tourism blog
तीर्थन हिमालयन एडवेंचर

73 दादासिबा पर्यटन – वस्तु का गहना के लिए प्रसिद्ध है!

दादासिबा

दादासिबा हिमाचल प्रदेश के काँगड़ा जिले का एक छोटा सा गांव है जो समुन्दर तल से 1650 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! दादासिबा में एक राधा कृष्ण मंदिर है जो काफी प्रसिद्ध है जिसे सिबिआ वंश के राजा राम सिंह ने बनवाया था ! जो अपने भीति चित्रों के लिए प्रसिद्ध है इसलिए दादासिबा वस्तु के गहने के रूप में प्रसिद्ध है ! दादासिबा लगभग दो सो साल पहले एक सवतंत्र राज्य का केंद्र था और राजा राम सिंह का महल गांव में अभी भी स्थित है ! जिसे देखना पर्यटक पसंद करते है !

  • दादासिबा में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से जुलाई और सर्दियों में अक्टूबर से फेब्रुअरी !
  • दादासिबा में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन गुलेर है वहा से दादासिबा के लिए टैक्सी ले सकते है ! और दिल्ली चंडीगढ़ से काँगड़ा के लिए बस (दुरी चंडीगढ़ से 225 किलोमीटर है )और फिर वहा से टैक्सी ले सकते है !
  • दादासिबा में रहने के नज़दीकी स्थान-: दा चेतेहु गर्ली , पीस हिमाचल , होटल किंग्स रीजेंसी , एस एस अवनि रिसॉर्ट्स होटल एंड रेस्टोरेंट !
  • दादासिबा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: दादासिबा कृष्ण मंदिर , शिव मंदिर बैजनाथ , काँगड़ा फोर्ट , जवाला जी मंदिर , ब्रजेश्वरी देवी मंदिर !

74 पांगी वैली पर्यटन – सफ़ेद शिखर वाला पर्वत के लिए प्रसिद्ध है!

chamba tourism
पांगी वैली

पांगी घाटी हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में समुंदर तल से 7000 फ़ीट से 11000 फ़ीट पर एक दुरस्त अविकसित आदि वासी क्षेत्र है ! पांगी घाटी सफ़ेद शिखर वाले पर्वत के लिए प्रसिद्ध है !पांगी में जियादातर हिन्दू बोद्धो के एक छोटे से अल्पसख्यक के साथ घाटी के ऊपरी स्थान में रहते है ! पांगी घाटी से पहाड़ो का अति सुन्दर नज़ारा दिखाई देता है ! पांगी घाटी पर्यटकों के पर्यटन के अच्छी जगह है !

  • पांगी घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: जुलाई से अक्टूबर !
  • पांगी घाटी में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है वाया रोड जाने के मनाली से किलर या फिर चम्बा से किलर भी जा सकते है !
  • पांगी घाटी में रहने के नज़दीकी स्थान-: होटल कल्पा दशांग , दा अल्पाइन नेस्ट , फार्मविला होमस्टे कल्पा , विलेज व्यू होमस्टे !
  • पांगी घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: कल्पा नेचर , बास्पा रिवर , ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क , कमरू फोर्ट , बेरिंग नाग मंदिर !
best tourist places in pangi valley
बास्पा रिवर
tourism places in pangi valley
बेरिंग नाग मंदिर
top places to visit in pangi valley
कमरू फोर्ट
hindi blog for tourism
ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

75 सैंज वैली पर्यटन – ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के लिए प्रसिद्ध है!

best tourist places in sainj valley
सैंज वैली

सैंज घाटी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले से 40 किलोमीटर दूर 1233 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क की निचली श्रेणी में स्थित अति लुभावनी प्रकृति का प्रदर्शन करती है ! यदि पर्यटक अज्ञात स्थान का पता लगाना चाहते है तो सैंज घाटी उनके लिए अच्छा पर्यटन स्थान हो सकता है ! सैंज घाटी ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के लिए प्रसिद्ध है ! यहाँ पर्यटक बहुत सारी साहसिक गतिविधियों को अंजाम दे सकते है !

  • सैंज घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से अक्टूबर और बर्फ बारी को देखने के लिए जेनुअरी और फेब्रुअरी !
  • सैंज घाटी में कैसे पहुचा जाये-: दिल्ली , चंडीगढ़ , शिमला से कुल्लू मनाली के लिए बस लेनी होगी और ओट दिल्ली मनाली राजमार्ग पर है वहा से सैंज के लिए टैक्सी ले सकते है !
  • सैंज घाटी में रहने के नज़दीकी स्थान-:आस्था होमस्टे सैंज , हेरिटेज वैली होमस्टे , ज़ॉस्टल होम्स लैडा , जी एच एन पी बैकपैकर्स हॉस्टल !
  • सैंज घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: सैंज गांव , सैंज वैली ट्रेक ,शंगगढ़ के मैदानी इलाके , पुद्रिक ऋषि झील ,ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क ट्रेक !
top places to visit in sainj valley
सैंज वैली ट्रेक
top travel places in sainj valley
ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क ट्रेक
himachal tourism hindi blog
पुद्रिक ऋषि लेक

76 हनुमान टिब्बा पर्यटन – पर्वतारोहियों और स्कीइंग के लिए प्रसिद्ध है!

hindi site for himachal tourism
हनुमान टिब्बा

हनुमान टिब्बा हिमाचल प्रदेश में धौलाधार श्रेणी में समुन्दर तल से 19626 फ़ीट की ऊंचाई पर सबसे ऊँची पर्वत चोटी है ! हनुमान टिब्बा पर्वतारोहियों और स्कीइंग के लिए प्रसिद्ध है ! इसकी मुख्य विशेषता यह है की यह आधार शिविर स्थल से खड़ी पिरामिंड जैसी दिखती है ! इसका पश्चिमी भाग शिप्टन स्पर में चढाई करना बहुत मुश्किल है क्योकि ये अक्सर हवाओ के संपर्क में रहता है ! और इस भाग की डिरेटिसीमा अभी भी स्पष्ट नहीं है ! अभी 4 अलपनेस्टो द्वारा किए गए एक प्रयास में जो ग्रेटर हिमालय के अल्पाइन क्लब के थे उनके द्वारा चढाई करने की कोशिश की गई और 18770 फ़ीट की ऊंचाई पर बर्फ की स्थिति से हार गए !

हनुमान टिब्बे पर पर्वतारोही अक्सर चढाई करने आते है ! हनुमान टिब्बे की चोटी पर चढाई करना जोखिम भरा काम है और हनुमान टिब्बा पर्यटकों में चढाई और स्कीइंग के लिए काफी प्रसिद्ध है ! हर साल देश विदेश से पर्यटक हनुमान टिब्बे पर पर्यटन के लिए आते है और पर्यटन का आनंद लेते है !

  • हनुमान टिब्बा में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: अप्रैल से अगस्त !
  • हनुमान टिब्बा में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी एयरपोर्ट भुंतर है वहा से मनाली के लिए बस ले सकते है दुरी 52 किलोमीटर है और वहा से जगतसुख के लिए टैक्सी ले सकते है दुरी 6 किलोमीटर है! दिल्ली से डायरेक्ट बस मनाली के लिए ले सकते है ! दुरी लगभग 600 किलोमीटर है !
  • हनुमान टिब्बा में रहने के नज़दीकी स्थान-: ज़ॉस्टल , ओर्चार्ड्स हाउस दा हिडन ड्राइव , योलो बैकपैकर्स मनाली , दा साइडर !
  • हनुमान टिब्बा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग , पर्वतारोहण एंड स्कीइंग !

77 चूरधार वैली पर्यटन – ट्रैकिंग हॉटस्पॉट के लिए प्रसिद्ध है!

sirmour tourism
चूडधार वैली

चूडधार घाटी हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में 11965 फ़ीट की ऊंचाई पर सिरमौर जिले की सबसे ऊँची चोटी है ! चूरधार घाटी चारो और से देवदार के जगलो से घिरी हुई है ! चूरधार घाटी ट्रेकिंग हॉटस्पॉट के रूप में प्रसिद्ध है ! चूरधार वैली में ट्रेकिंग करने का परम सुख प्राप्त होता है रंग बिरंगे पक्षियों की चहक और ठंडी हवाएं ,शांत वातावरण मन को मोह लेता है !

चूडधार घाटी सिरमौर , शिमला , सोलन और देहरादून के लोगो के लिए बड़ा धार्मिक महत्व रखती है ! चूडधार में एक देवता जी का मंदिर है जो श्री शिरगुल महाराज (चुरेश्वर महाराज ) के नाम से प्रसिद्ध है ! इन देवता जी को पुरे सिरमौर और आस पास के नज़दीक के जिलों और प्रदेश उतराकड में देहरादून के लोगो द्वारा व्यापक तौर पर पूजा जाता है इसलिए भी चूडधार बहुत प्रसिद्ध स्थान है ! यहाँ पर्यटक भारी मात्रा में ट्रेकिंग और देवता जी के दर्शन करने आते है !

  • चूडधार घाटी में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से सितम्बर तक !
  • चूडधार घाटी में कैसे पहुचा जाये-:नज़दीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन शिमला है और शिमला से चौपाल के लिए बस ले सकते है वहां से लोकल बस /टैक्सी ले सकते है सराह के लिए सराह से चूडधार की यात्रा शुरू हो जाती है जो लगभग 3 घंटे की यात्रा है !
  • चूडधार घाटी में रहने के नज़दीकी स्थान-: शिरगुल राज होटल , होटल चुरेश्वर रिसोर्ट , एक्शणी बाग़ !
  • चूडधार घाटी मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: चूडधार वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी , शिरगुल महाराज मंदिर , बिज्जत महाराज मंदिर , ट्रेकिंग इन चूडधार वैली !
top hindi tourism blog
चूड़धार टॉप शिव स्टेचू
best tourist places in churdhar
ट्रेकिंग इन चूडधार
top hindi tourism site
कैंपिंग इन चूडधार
top places to visit in sirmour
शिरगुल महाराज मंदिर

78 नालदेरा वैली पर्यटन – गोल्फ कोर्स और भव्य सूर्यास्त के लिए प्रसिद्ध है !

shimla tourism
नालदेहरा

नालदेरा वैली हिमालय की पहाडिओ में बसा एक स्वर्ग है जो शिमला से लगभग 23 किलोमीटर की दुरी पर और समुन्दर तल से 2044 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ! नालदेरा प्रकृति प्रेमिओ और रोमांच चाहने वालो के लिए एक आदर्श स्थान है ! नालदेरा गोल्फ कोर्स और भव्य सूर्यास्त के लिए सबसे लोकप्रिय है ! नालदेरा देवदार के जगलो और धुंध के बादलो से घिरा हुआ है ! पर्यटक नालदेरा में प्रकृति का भरपूर आनंद ले सकते है ! पर्यटकों का नालदेरा में जियादा मात्रा में आने का एक कारण यह भी है की शिमला पास में है !

  • नालदेरा में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर !
  • नालदेरा में कैसे पहुचा जाये-: नज़दीकी रेलवे स्टेशन शिमला है ! वहा से टैक्सी ले सकते है नालदेरा के लिए दुरी 23 किलोमीटर है !
  • नालदेरा में रहने के नज़दीकी स्थान-:चैलेट्स नालदेरा , दा चैलेट्स नालदेरा , वुड स्टॉक रिसोर्ट , कोटि रिसोर्ट !
  • नालदेरा मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: शैली पीक , नालदेरा गोल्फ कोर्स , क्रैगनैनो नेचर पार्क , चैडविक फाल्स !
best places to visit in naldera
गोल्फ मैदान
tourist place naldehra
क्रैगनैनो नेचर पार्क
top places to visit in naldehra
शैली पीक
manali tourism
चैडविक वाटर फॉल्स

79 कोटखाई पर्यटन – सेब के बगीचों के लिए प्रसिद्ध है!

kotkhai tourism
कोटखाई

कोटखाई हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले का एक छोटा सा शहर है जो समुंदर तल से 6171 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ! कोटखाई शिमला से सिर्फ 60 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है ! कोटखाई पुरे भारत में सेब के बगीचों के लिए प्रसिद्ध है ! वर्तमान में कोटखाई पर्यटकों का पसंदीदा पर्यटन स्थान बनता जा रहा है !

कोटखाई में ऐसे क्षेत्र भी मौजूद है जहा पर्यटक शांति से परिवार के साथ प्रकृति का आनंद ले सकते है और ट्रैकिंग भी कर सकते है ! कोटखाई एक पवित्र स्थान है यहाँ अनेक देवी देवताओ के मंदिर विध्यमान है जिनमे प्रमुख है कराल देवता मंदिर क्यारी , दुर्गा माता महासू मंदिर , बम्ब्रारा नाग देवता मंदिर आदि इस वजह से भी ये पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है !

  • कोटखाई में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से दिसंबर और बर्फ बारी के लिए जेनुअरी और फेब्रुअरी !
  • कोटखाई में कैसे पहुचा जाये-: शिमला से कोटखाई के लिए डायरेक्ट बसे उपलब्ध है सुबह से शाम तक !
  • कोटखाई में रहने के नज़दीकी स्थान-: स्तान स्प्रिंग डेल होटल गुम्मा , हाई रूफ गुम्मा ,
  • कोटखाई मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग इन वदेहेर ,

80 खड़ापथर पर्यटन – ट्रेकिंग और भव्य दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है!

places to visit in kotkhai
खड़ापथर

खड़ापथर वैली हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के कोटखाई और जुब्बल के बीच समुंदर तल से लगभग 9000 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा सा हिल स्टेशन है ! यह अपने ट्रेकिंग और भव्य द्रश्यो के लिए काफी प्रसिद्ध है ! खड़ापथर घाटी से चारो और बर्फ से ढके पहाड़ो का अद्भुत दृश्य दिखाई देता है !

खड़ापथर में ट्रेकिंग कैंपिंग आदि का प्रमुख स्थान खड़ापथर से 5 किलोमीटर दूर कुपढ़ नाम का स्थान है जहा से गिरिगंगा निकलती है ! इस स्थान की वजह से ही खड़ापथर पर्यटन के लिए प्रसिद्ध हुआ है यह बहुत पवित्र स्थान है और यह स्थान खड़ापथर से ऊंचाई पर और घने देवदार के जगल के बीच स्थित है ! वर्तमान समय में ये पर्यटन का केंद्र बनता जा रहा है ! लेकिन अभी ये स्थान बाहरी पर्यटकों में इतना लोकप्रिय नहीं है ! यदि आप अपने परिवार के साथ छुटिया बिताने के लिए किसी शांत और सुन्दर जगह की तलाश कर रहे हो तो यह गतव्य आप के लिए बिल्कुल सही है !

  • खड़ापथर में पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय-: मार्च से नवम्बर !
  • खड़ापथर में कैसे पहुचा जाये-: शिमला से रोहडू वाया कोटखाई वाली बस ले सकते है और खड़ापथर में उतर जाओ ये स्टेशन रास्ते में ही है दुरी लगभग 75 किलोमीटर है !
  • खड़ापथर में रहने के नज़दीकी स्थान-: गिरिगंगा रिसोर्ट खड़ापथर , ज़ॉस्टल होम्स कोटखाई !
  • खड़ापथर मे और आस पास देखने और मनोरंजन करने के लिए शीर्ष स्थान-: ट्रेकिंग एंड कैंपिंग इन कुपढ़ !

4 thoughts on “हिमाचल प्रदेश में पर्यटन स्थल

  • 05/24/2020 at 9:23 AM
    Permalink

    Nice information about Himachal tourism in hindi language.

  • 05/31/2020 at 8:33 AM
    Permalink

    Is me acchi information hai shimla ke travel places ke bare mai

  • 06/13/2020 at 10:08 AM
    Permalink

    nice information in this site👍

Comments are closed.